Monday, June 15, 2020

Uppsc News: बदली पीसीएस मुख्य परीक्षा की तिथि, अब 25 जुलाई की जगह 25 अगस्त से कराई जाएगी परीक्षा , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर

Uppsc News: बदली पीसीएस मुख्य परीक्षा की तिथि, अब 25 जुलाई की जगह 25 अगस्त से कराई जाएगी परीक्षा , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर 



उत्तर प्रदेश लोक  सेवा आयोग (यूपीपीएससी) ने पीसीएस-2019 की मुख्य परीक्षा की प्रस्तावित तिथि बदल दी है। यह परीक्षा अब 25 अगस्त से होगी। इसके लिए यूपीपीएससी के परीक्षा नियंत्रक अरविंद कुमार मिश्र की ओर से सोमवार को संशोधित परीक्षा कैलेंडर भी जारी कर दिया। हालांकि इसमें बाकी परीक्षाओं की प्रस्तावित तिथियों में कोई परिवर्तन नहीं किया गया है।
आयोग ने नौ जून को परीक्षाओं का कैलेंडर जारी कि या था जिसमें कुल 13 परीक्षाएं शामिल की गई हैं। इनमें पीसीएस-2019 की मुख्य परीक्षा 25 जुलाई से प्रस्तवित थी, लेकिन इसी दौरान सिविल सेवा परीक्षा 2019 का साक्षात्कार भी होना है। पीसीएस मुख्य परीक्षा में शामिल होने वाले तमाम अभ्यर्थियों को सिविल सेवा परीक्षा का इंटरव्यू भी देना है।

ऐसे में उन्होंने आयोग में आवेदन देकर परीक्षा तिथि परिवर्तित किए जाने की मांग की थी। इसके बाद आयोग को संशोधित परीक्षा कैलेंडर जारी करना पड़ा। अब 25 अगस्त से आयोजित पीसीएस-2019 की मुख्य परीक्षा के लिए अभ्यर्थियों को एक महीना और मिल जाएगा। कैलेंडर में शामिल अन्य परीक्षाओं की प्रस्तावित तिथियों में कोई बदलाव नहीं किया गया है। बाकी परीक्षाएं पूर्व निर्धारित समय पर ही होंगी। कैलेंडर के अनुसार 11 परीक्षाएं वर्ष 2020 और दो परीक्षाएं वर्ष 2021 में आयोजित की जाएंगी। 
इनमें इस वर्ष जुलाई, अगस्त, सितंबर, नवंबर एवं दिसंबर में दो-दो और अक्तूबर में एक परीक्षा और अगले वर्ष जनवरी एवं फरवरी में एक-एक परीक्षा होगी। इस परिवर्तन से अभ्यर्थी काफी खुश हैं। अभ्यर्थी चाह रहे थे कि पीसीएस-2019 की मुख्य परीक्षा से पहले पीसीएस-2018 का अंतिम चयन परिणाम आ जाए, ताकि पीसीएस-2019 की मुख्य परीक्षा में शामिल होने वालों के लिए चयन के अवसर बढ़ सकें।

पहले यह मुश्किल लग रहा था लेकिन अब मुख्य परीक्षा  एक माह आगे बढ़ जाने से उन्हें उम्मीद है कि पीसीएस-2019 की मुख्य परीक्षा से पहले पीसीएस-2018 का अंतिम चयन परिणाम घोषित कर दिया जाएगा। अमूमन उच्च पदों पर चयनित होने वाले अभ्यर्थी पीसीएस की अगली परीक्षा में शामिल नहीं होते हैं। ऐसे में पीसीएस-2019 के अभ्यर्थियों के बीच स्पर्धा कम हो जाएगी।