Monday, June 22, 2020

सीबीएसई परीक्षाओ पर आज खत्म हो सकता है असमंजस , अभिभावकों के दबाव को देखते हुए मंत्रलय परीक्षाओं को टालने के दे चुका है संकेत , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर

सीबीएसई परीक्षाओ पर आज खत्म हो सकता है असमंजस , अभिभावकों के दबाव को देखते हुए मंत्रलय परीक्षाओं को टालने के दे चुका है संकेत , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर 





केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की दसवीं और बारहवीं की बची परीक्षाओं सहित जेईई मेंस और नीट की जुलाई में प्रस्तावित परीक्षाओं को लेकर सोमवार को संशय खत्म हो सकता है। अभिभावकों के दबाव व कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए मानव संसाधन विकास मंत्रलय पहले ही परीक्षाओं को टालने के संकेत दे चुका है। लेकिन अब इस पर अंतिम मुहर लग सकती है। वैसे भी एक जुलाई से प्रस्तावित सीबीएसई परीक्षाओं पर मंत्रलय को निर्णय लेना है, क्योंकि परीक्षाओं के लिए ज्यादा समय नहीं बचा है।

मंत्रलय के लिए परीक्षाओं को लेकर सोमवार को कोई निर्णय लेना इसलिए भी जरूरी माना जा रहा है, क्योंकि सीबीएसई की दसवीं और बारहवीं की बची परीक्षाओं को लेकर सुप्रीम कोर्ट में भी एक याचिका लंबित है, जिसमें अभिभावकों ने संक्रमण को देखते हुए परीक्षाओं को न कराने की मांग की है। इस मामले में कोर्ट ने सीबीएसई से 23 जून तक जवाब मांगा है। इस बीच स्वास्थ्य और गृह मंत्रलय के साथ भी चर्चा हो चुकी है, जिसमें परीक्षाओं के अलावा दूसरे विकल्पों को आजमाने की बात कही गई है। हालांकि विकल्प क्या होंगे, इसका जिम्मा मानव संसाधन विकास मंत्रलय पर छोड़ा गया है। मंत्रलय उन सभी विकल्पों को लेकर काम कर रहा है जो संभव हैं और छात्रों का भी जिनमें कोई नुकसान न हो। इनमें फिलहाल उन्हें प्री-बोर्ड या आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर अंक देकर अभी प्रमोट करना है। साथ ही यदि किसी को कम अंक मिलने की आशंका है तो उन्हें बाद में परीक्षा का एक मौका दिया जाएगा, जिसमें शामिल होकर वे अपने अंक सुधार सकते है। फिलहाल इन विकल्पों पर अभी अंतिम मुहर लगना बाकी है।

मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने पिछले दिनों ही मौजूदा परिस्थितियों में परीक्षाओं को लेकर संदेह जताया था। उन्होंने कहा था कि छात्रों की सुरक्षा उनके लिए सवरेपरि है। जो भी फैसला होगा वह उनकी सुरक्षा को ध्यान में रखकर ही लिया जाएगा।



दिल्ली सहित देश भर में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए केंद्रीय विद्यालय संगठन (केवीएस) ने अपने स्कूलों की छुट्टियां बढ़ा दी है। ये स्कूल अब 30 जून तक बंद रहेंगे। हालांकि ऑनलाइन पढ़ाई 22 जून से ही शुरू हो जाएगी। केंद्रीय विद्यालयों में 19 जून तक गर्मी की छुट्टियां थीं, जिसके बाद इन स्कूलों को 22 जून से खुलना था। इससे पहले ही केवीएस ने यह फैसला लिया है।स्कूलों को अभी न खोलने को लेकर अभिभावकों की ओर से भी लगातार मांग की जा रही है। इस बीच केंद्रीय विद्यालय संगठन ने अभिभावकों और छात्रों को मैसेज भेज कर स्कूलों के 30 जून तक बंद होने की जानकारी दी है। साथ ही छात्रों से ऑनलाइन पढ़ाई के लिए तैयार रहने के लिए भी कहा है। केवीएस का इस दौरान सबसे ज्यादा फोकस दसवीं और बारहवीं के उन छात्रों को लेकर है जिनकी अगले साल यानी फरवरी-मार्च 2021 में बोर्ड की परीक्षाएं होनी है। ऐसे में इन सभी छात्रों को पढ़ाने को लेकर संगठन की काफी जोर-शोर से तैयारी चल रही है। संगठन से जुड़े अधिकारियों की मानें तो संक्रमण की स्थिति को देखते हुए जिस तरीके से स्कूलों के खुलने को लेकर संशय बना हुआ है उसमें ऑनलाइन शिक्षा ही एकमात्र विकल्प बचता है। ऐसे में छात्रों को गूगल क्लासरूम सहित ऑनलाइन के दूसरे विकल्पों के जरिये भी पढ़ाई के लिए स्टडी मैटेरियल तैयार किया जा रहा है। साथ ही शिक्षकों को भी इसके लिए विशेष रूप से प्रशिक्षित किया जा रहा है। बता दें कि केंद्रीय विद्यालय संगठन के तहत मौजूदा समय में देश में 1239 विद्यालय संचालित होते हैं।