Tuesday, June 23, 2020

फर्जीवाड़ा ::; सीबीएसई के छात्रों का डाटा लीक, पास करने को ठग मांग रहे रुपये , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर

फर्जीवाड़ा ::; सीबीएसई के छात्रों का डाटा लीक, पास करने को ठग मांग रहे रुपये , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर 





केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की 10वीं-12वीं की परीक्षा में शामिल विद्यार्थियों के डाटा लीक होने का अंदेशा है। इसी डाटा का दुरुपयोग कर ठग मध्य प्रदेश के नरसिंहपुर जिले के सीबीएसई व संबद्धता प्राप्त स्कूलों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों के अभिभावकों को फोन करके उनके बच्चों के फेल होने का दावा करते हुए उन्हें पास कराने के लिए 15 से 20 हजार रुपये मांग रहे हैं। यह मामला संज्ञान में लाए जाने पर सीबीएसई और केंद्रीय विद्यालय संगठन के अधिकारियों ने अभिभावकों-विद्यार्थियों के लिए अलर्ट जारी किया है। वहीं, नरसिंहपुर के पुलिस अधीक्षक ने मामले की जांच करने की बात कही है। गौरतलब है कि नरसिंहपुर जिले की विभिन्न तहसीलों में स्थित सीबीएसई स्कूलों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों ने हाल ही में 10वीं-12वीं बोर्ड की परीक्षा दी है। सभी मुख्य विषयों की परीक्षा हो चुकी है, जबकि वैकल्पिक विषयों की परीक्षा बाकी है। ये कब तक होंगी, इसे लेकर सीबीएसई ने अब तक कोई जानकारी अपडेट नहीं की है। विद्यार्थियों को इन विषयों में जनरल प्रमोशन दिया जाएगा कि नहीं, इसे लेकर भी आदेश नहीं है। 25 जून को रिजल्ट का कर रहे दावा : सीबीएसई दिल्ली का हवाला देकर ठग अभिभावकों को फोन पर दावा कर रहे हैं कि 25 जून को सीबीएसई परीक्षा का रिजल्ट घोषित किया जाएगा। अब तक नरसिंहपुर के 50 से अधिक लोगों के पास ठगों के इस तरह के फोन आ चुके हैं। कॉल करने वाले खुद को परीक्षा विभाग का डाटा एंट्री ऑपरेटर बताकर धन की मांग कर रहे हैं।

इन नंबरों से आ रहे कॉल्स

8582968427

7477666261

7632935652

ये सौ फीसद डाटा हैकिंग का मामला है। मुङो एक अभिभावक ने शिकायत की है, इसमें कॉल करने वाले की ऑडियो रिकॉर्डिग के साथ विभिन्न मोबाइल नंबर, बैंक खातों की जानकारी है। हम छात्र-छात्रओं के हित में जांच कर रहे हैं। ये देखेंगे कि कहीं स्थानीय स्तर से ही किसी विद्यार्थी का डाटा हैक तो नहीं हुआ है। इसके बाद जांच की जाएगी।

- डॉ. गुरकरण सिंह, पुलिस अधीक्षक नरसिंहपुर।

इस तरह के फोन सीबीएसई की ओर से नहीं हो सकते हैं। छात्र-छात्रओं को किसी भी फोन पर भरोसा नहीं करना चाहिए। जहां तक बात इन विद्यार्थियों के डाटा लीक होने की है तो यह साइबर क्राइम का मामला है।

- राजेश कुमार चंदेल, पूर्व सहोदय अध्यक्ष व सीबीएसई सिटी को-ऑर्डिनेटर जबलपुर, मप्र