Monday, June 1, 2020

69000 शिक्षक भर्ती में आज जारी होने वाली जिला आवंटन सूची में गुणांक व कैटेगरी जारी करने की मांग , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर

69000 शिक्षक भर्ती में आज जारी होने वाली जिला आवंटन सूची  में गुणांक व कैटेगरी जारी करने की मांग , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर 





परिषदीय प्राथमिक स्कूलों में 69000 सहायक अध्यापकों की भर्ती के लिए जिला आवंटन सोमवार दोपहर बाद जारी होगा। बेसिक शिक्षा परिषद की ओर से 17 मई को जारी टाइम टेबल के अनुसार 31 मई को जिला आवंटन जारी होना था। लेकिन मोबाइल नंबर संशोधन के लिए आवेदन की अंतिम तिथि 26 मई से दो दिन बढ़ाकर 28 मई तक करने के कारण तैयारी नहीं हो पाई है।

बेसिक शिक्षा परिषद के सचिव विजय शंकर मिश्र ने बताया कि परिषद एवं एनआईसी की टीम काम कर रही है जैसे ही तैयारी पूरी होगी तो निर्णय लिया जाएगा। गौरतलब है कि भर्ती के लिए आवेदन करने वाले 136621 अभ्यर्थियों में से जिनका नाम जिला आवंटन की सूची में होगा उन्हें ही 3 से 6 जून तक जिलों में होने वाली काउंसिलिंग में प्रतिभाग करने का अवसर मिलेगा।

भ्रम में न रहें अभ्यर्थी, दिव्यांगों को चार नहीं तीन प्रतिशत ही मिलेगा आरक्षण: शिक्षक भर्ती के लिए आवेदन करने वाले दिव्यांग अभ्यर्थियों में भ्रम की स्थिति है कि उन्हें चार प्रतिशत आरक्षण मिलेगा। जबकि आरक्षण नियमों के अंतर्गत मान्य 3 प्रतिशत सीटों पर ही नियुक्ति होगी। अयोध्या के गोपाल, प्रदीप कुमार दुबे आदि एक सितंबर 2018 को जारी शासनादेश का हवाला देते हुए दिव्यांग वर्ग के अभ्यर्थियों को विशेष आरक्षण के तहत 4 प्रतिशत आरक्षण देने को लेकर पूछताछ कर रहे हैं। लेकिन बेसिक शिक्षा परिषद के सूत्रों का कहना है कि दिव्यांगों के लिए 3 प्रतिशत आरक्षण ही मान्य है। थैलेसीमिया पीड़ित ऐसे अभ्यर्थी जिन्हें उक्त रोग के आधार पर आरक्षण का लाभ मिलना है, उन्हें चलन बाधित श्रेणी में शामिल किया जाएगा।


शिक्षक भर्ती के अभ्यर्थियों ने सोमवार को जारी होने वाले जिला आवंटन में गुणांक और कैटेगरी भी प्रदर्शित करने की मांग की है। यह मांग इसीलिए की जा रही है जिससे प्रत्येक जाति के कितने लोगों का किस वर्ग में चयन हुआ है इसकी जानकारी हो सके। साथ ही पता चल सके की सरकार ने भर्ती में आरक्षण समेत सभी नियमों का पालन हुआ है या नहीं। इसके अलावा बीटीसी 2015 बैक सेमेस्टर के उन अभ्यर्थियों जिनका परिणाम फरवरी 2019 में घोषित किया गया उन्हें और सीटीईटी दिसंबर 2018 के अभ्यर्थी जिनका परिणाम 4 जनवरी को घोषित हुआ उन्हें नियुक्ति पत्र न देने की मांग कर रहे हैं। बीएड अपीयरिंग के अभ्यर्थियों को भी काउंसिलिंग में प्रतिभाग न करने की मांग कर रहे हैं। क्योंकि शासनादेश के अनुसार वे आवेदन करने के लिए अर्ह नहीं हैं। 68500 में चयनित शिक्षकों को एनओसी न देने और प्राप्तांक-पूर्णांक की गलती करने वालों को शामिल न करने की मांग की है।