Saturday, June 13, 2020

69000 शिक्षक भर्ती ::: प्रश्न विवाद पर विराम , चयनितो की राह आसान , डबल बेंच के आदेश से लिखित परीक्षा के 142 प्रश्नों की स्क्रीनिंग नहीं होगी , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर

69000 शिक्षक भर्ती ::: प्रश्न विवाद पर विराम , चयनितो की राह आसान , डबल बेंच के आदेश से लिखित परीक्षा के 142 प्रश्नों की स्क्रीनिंग नहीं होगी , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर 





69000 शिक्षक भर्ती में हाईकोर्ट की डबल बेंच ने प्रदेश सरकार को दोहरी राहत दी है। एक ओर लिखित परीक्षा में पूछे गए 142 प्रश्नों के उत्तर विवाद का पटाक्षेप हो गया है, वहीं भर्ती के लिए चयनितों को नियुक्ति देने की राह आसान हुई है। सरकार चाहे तो कुल पदों में से 31,661 पर शिक्षकों की तत्काल नियुक्ति प्रक्रिया आगे बढ़ा सकती है। भर्ती के सभी पदों पर नियुक्ति के लिए शीर्ष कोर्ट का स्थगनादेश बाधा है।

बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक स्कूलों में 69000 सहाय क अध्यापक पदों की भर्ती के लिए लिखित परीक्षा में पूछे गए 150 सवालों में से 142 प्रश्नों के उत्तर को चुनौती मिली थी। हालांकि याचियों ने 14 प्रश्नों के जवाब पर आपत्ति की थी लेकिन, लखनऊ की एकल खंडपीठ ने पहली उत्तरकुंजी के बाद मिली सभी आपत्तियों की यूजीसी से जांच कराने का आदेश दिया था। इस प्रक्रिया में वक्त अधिक लगता और प्रश्नों के जवाब बदलने से परीक्षा का परिणाम और जिला आवंटन सभी प्रभावित होता।

डबल बेंच ने इस मामले में शीर्ष कोर्ट के उसी आदेश का जिक्र करते हुए सिंगल बेंच के आदेश पर स्टे किया, जिसे दैनिक जागरण ने प्रमुखता से प्रकाशित किया था। उसमें कहा गया था कि प्रश्नों के जवाब यदि दो किताबों में अलग हैं तो अंतिम राय विशेषज्ञों की ही मानी जाएगी।

सभी पदों पर हो सकती काउंसिलिंग : प्रदेश सरकार चाहे तो भर्ती के सभी पदों के लिए काउंसिलिंग करा सकती है और नियुक्ति पत्र शीर्ष कोर्ट की मॉडीफिकेशन याचिका पर निर्णय आने के बाद दे सकती है। बेसिक शिक्षा विभाग शिक्षकों का स्कूल आवंटन ऑनलाइन कराने के लिए साफ्टवेयर तैयार करा रहा है। ज्ञात हो कि सिंगल बेंच के आदेश पर भर्ती की काउंसिलिंग शुरू होते ही रोक दी गई थी। इसके पहले भी सरकार चयनितों की जिला आवंटन सूची सिंगल बेंच का आदेश आने के पहले जारी कर चुकी है।


37339 पदों पर शिक्षामित्रों का आवेदन

शीर्ष कोर्ट ने नौ जून को शिक्षामित्रों की याचिका की सुनवाई करते हुए कहा कि भर्ती में 37339 पदों पर चयन न करके शेष पर नियुक्ति की जा सकती है। असल में, लिखित परीक्षा में कुल 45,357 शिक्षामित्रों ने आवेदन किया था, उनमें से 8,018 शिक्षामित्र परीक्षा उत्तीर्ण करने में सफल रहे। 37339 शिक्षामित्र मांग कर रहे हैं कि भर्ती में सामान्य का 45 व आरक्षित वर्ग का 40 प्रतिशत कटऑफ पर चयन हो। ज्ञात हो कि भर्ती में चयन सामान्य के 65 व आरक्षित वर्ग के अभ्यर्थियों को 60 फीसद अंकों पर उत्तीर्ण किया गया है।