Sunday, June 28, 2020

यूपी बोर्ड खबर ::: ग्रीवांस सेल को आज से बताएं दिक्कत, होगा त्वरित निस्तारण , एक जुलाई से मिलेगी डिजिटल मार्कशीट , स्क्रूटनी के लिए 22 जुलाई तक आवेदन , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर

यूपी बोर्ड खबर ::: ग्रीवांस सेल को आज से बताएं दिक्कत, होगा त्वरित निस्तारण , एक जुलाई से मिलेगी डिजिटल मार्कशीट , स्क्रूटनी के लिए 22 जुलाई तक आवेदन , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर 





 हाईस्कूल व इंटर के परीक्षार्थियों की समस्याओं का त्वरित निवारण किया जाएगा। अपूर्ण परीक्षाफल, नाम संशोधन, जन्म तारीख व विषय में संशोधन जैसी समस्याओं का निस्तारण कराने के लिए उन्हें भागना नहीं पड़ेगा और न अधिकारियों का चक्कर काटना होगा।

यूपी बोर्ड ने परीक्षार्थियों की सहूलियत के लिए ‘परीक्षार्थी ग्रीवांस सेल’ (सहायता कक्ष) का गठन किया है। ग्रीवांस सेल प्रयागराज, मेरठ, बरेली, वाराणसी व गोरखपुर स्थित क्षेत्रीय कार्यालयों व परिषद मुख्यालय प्रयागराज में बनाया गया है। सेल 28 जून से काम करना शुरू कर देगा। परीक्षार्थी हर प्रकार की समस्याओं का निस्तारण कराने के लिए वहां 28 जुलाई तक आवेदन कर सकते हैं। हर आवेदन पर त्वरित कार्रवाई के लिए परिषद ने अधिकारियों व कर्मचारियों को निर्देश जारी किया है।

मास्क लगाना होगा अनिवार्य: ग्रीवांस सेल में सुबह दस से शाम पांच बजे तक आवेदन लिया जाएगा। कोविड-19 के मद्देनजर परीक्षार्थियों को मास्क लगाना अनिवार्य है। शारीरिक दूरी मानक का पालन करने का निर्देश दिया गया है।


यूपी बोर्ड की हाईस्कूल व इंटर परीक्षा की मार्कशीट की ऑनलाइन डिजिटल कॉपी एक जुलाई से मिलेगी। कोरोना संक्रमण के चलते मार्कशीट छपने के काम में देरी हुई है। ऐसे में विद्यार्थियों को अपने स्कूल के प्रधानाचार्य को मार्कशीट के लिए प्रार्थना पत्र देना होगा। वे यूपी बोर्ड सचिव के डिजिटल हस्ताक्षर वाली कॉपी को डाउनलोड कर उसका प्रिंट निकालेंगे और उसे सत्यापित कर हस्ताक्षर करेंगे। बोर्ड सचिव नीना श्रीवास्तव ने बताया कि यह मार्कशीट विद्यार्थी के लिए अस्थाई तौर पर मूल मार्कशीट की तरह ही काम करेगी। हाईस्कूल पास विद्यार्थी को कक्षा 11 और इंटर पास विद्यार्थी को स्नातक में दाखिले के लिए यह मान्य होगी।

कोरोना संक्रमण के चलते हुए लाकडाउन के चलते अभी मार्कशीट की छपाई का काम पूरा नहीं हुआ है। विद्यार्थी 15 जुलाई से हाईस्कूल की मार्कशीट की हार्ड कापी यानी मूल मार्कशीट मिलेगी और 30 जुलाई से इंटर की मिलेगी। इंटर में एक विषय में फेल हुए विद्यार्थियों को पहली बार कंपार्टमेंट परीक्षा देकर पास होने का मौका दिया जा रहा है। डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा ने कहा कि फिलहाल इसे कोरोना का संक्रमण कम होने पर ही आयोजित किया जाएगा।