Sunday, May 10, 2020

असिस्टेंट प्रोफेसर भर्ती की नहीं शुरू हुई प्रक्रिया , प्रतियोगी छात्रों ने जल्द प्रक्रिया शुरू करने की मांग की , क्लिक करे और पढ़े पूरी पोस्ट

असिस्टेंट प्रोफेसर भर्ती की नहीं शुरू हुई प्रक्रिया , प्रतियोगी छात्रों ने जल्द प्रक्रिया शुरू करने की मांग की , क्लिक करे और पढ़े पूरी पोस्ट 




उत्तर प्रदेश के सहायता प्राप्त डिग्री कॉलेजों में रिक्त असिस्टेंट प्रोफेसर के 3900 पदों के लिए भर्ती प्रक्रिया अभी शुरू नहीं हो सकी। प्रदेश भर के डिग्री कॉलेजों से विषयवार मिली रिक्त पदों की सूचना का शासन के निर्देश पर सत्यापन करने के बाद उच्च शिक्षा निदेशालय ने फरवरी के पहले सप्ताह में शासन को 43 विषयों के 3900 रिक्त पदों का ब्योरा भेजा था।

प्रतियोगी छात्रों में उम्मीद जगी थी की भर्ती प्रक्रिया जल्द शुरू हो जाएगी लेकिन तीन महीने हो गए अभी तक भर्ती का कुछ अता-पता नहीं है। उच्च शिक्षा निदेशालय के अफसरों का कहना है कि फरवरी में शासन को भेजे गए ब्योरे के बाद अभी तक वहां से कोई जानकारी नहीं दी गई है। इसबीच प्रतियोगी छात्रों की ओर से दिए गए ज्ञापन का संज्ञान लेते हुए उच्च शिक्षा निदेशालय शासन को इस बारे में एक बार फिर पत्र लिखने जा रहा है। प्रतियोगी छात्रों ने सीएम तथा डिप्टी सीएम एवं उच्च शिक्षा मंत्री को ट्वीट कर भर्ती प्रक्रिया शुरू कराने की मांग की है।

अब तक की सबसे बड़ी भर्ती होगी
असिस्टेंट प्रोफेसर की अब तक की यह सबसे बड़ी भर्ती होगी। अभी तक किसी भर्ती में इतने ज्यादा पद नहीं रहे हैं। उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग की दो भर्तियों की बात करें तो विज्ञापन संख्या 46 में 45 विषयों के 1652 पद थे जबकि वर्तमान में जिस विज्ञापन संख्या 47 की भर्ती प्रक्रिया चल रही है, उसमें 35 विषयों के 1150 पद शामिल हैं। यही वजह है कि प्रतियोगी छात्रों को इस भर्ती का बेसब्री से इंतजार है। इंतजार की एक वजह यह भी है कि सहायता प्राप्त डिग्री कॉलेजों में रिक्त असिस्टेंट प्रोफेसर के पदों के लिए पिछले तीन वर्षों में आयोग कोई नई भर्ती शुरू नहीं कर सका है। विज्ञापन संख्या 47 की प्रक्रिया जून 2016 में शुरू की गई थी। अभी तक इसके 1150 पदों पर चयन नहीं हो सका है। पदों की संख्या के लिहाज से बड़े दो विषयों का अभी परिणाम तक घोषित नहीं किया जा सका है।