Saturday, February 15, 2020

फर्जी डिग्री से जेई बनाने की तैयारी , लोक निर्माण विभाग के बाबुओं ने दूरस्थ शिक्षा केंद्रों से बनवाई डिप्लोमा की डिग्री , क्लिक करे और पढ़े पूरी पोस्ट

फर्जी डिग्री से जेई बनाने की तैयारी , लोक निर्माण विभाग के बाबुओं ने दूरस्थ शिक्षा केंद्रों से बनवाई डिप्लोमा की डिग्री , क्लिक करे और पढ़े पूरी पोस्ट 




 लोक निर्माण विभाग में फर्जी डिग्री के दम पर बाबू से जेई (जूनियर इंजीनियर) बनाने की तैयारी है। इसके लिए बाबुओं से डिप्लोमा की डिग्री मांगी थी और अधिकारियों ने उसे प्रमाणित करके भेज भी दिया है। ऐसे ही फर्जी डिग्री के दम पर पहले से ही 103 बाबू विभाग में जेई बने हुए हैं। उनको हटाने के बजाय कई और बाबुओं को जेई बनाने की तैयारी है।
लोक निर्माण विभाग में जेई के पांच फीसद पद प्रमोशन से भरे जा रहे हैं। इसके लिए उन बाबुओं को जेई बनाया जा रहा है जो सिविल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा किए हैं। 2014-15 में जेई पद पर विभागीय प्रमोशन की बात आई तो कई लिपिकों ने दूरस्थ शिक्षा केंद्रों से डिप्लोमा की डिग्री बनवाकर फार्म भरा दिया। बाद में प्रमोशन भी हो गया। कई और ने ऐसे ही डिग्री बनवा ली। 2016 में शिकायत पर तत्कालीन चीफ इंजीनियर एचएन पांडेय ने करीब दो साल तक जांच के बाद 2018 में रिपोर्ट प्रमुख अभियंता को सौंप दी। उन्होंने जांच में लिखा कि दूरस्थ शिक्षा केंद्रों की डिप्लोमा वाली डिग्री फर्जी है। इसलिए उस फर्जी डिग्री के आधार पर जेई बने 103 बाबुओं का पदावनत किया जाए लेकिन अब तक उस पर अमल नहीं हुआ है। प्रयागराज से करीब तीन दर्जन बाबुओं ने दूरस्थ शिक्षा केंद्रों की डिप्लोमा वाली डिग्री लगाकर उच्च अधिकारियों को भेज दिया गया है।
पूर्व में क्या हुआ उसकी जानकारी नहीं है। पिछले दिनों विभागीय प्रमोशन के मामले में जो रिकार्ड मंगवाए थे वह भेज दिए गए हैं। फैसला शासन को करना है।
विपिन राय, अधीक्षण अभियंता, लोक निर्माण विभाग।
साल पहले जांच में इन डिग्रियों को किया गया था फर्जी घोषित
बाबू फर्जी डिग्री के दम पर पहले से ही बने हुए हैं जेई
फीसद पद प्रमोशन के जरिए भरे जा रहे हैं
में शिकायत हुई तो तत्कालीन चीफ इंजीनियर को सौंपी जांच

Click Here & Download Govt Jobs UP Official Android App



Click Here to join Govt Jobs UP Telegram Channel