Tuesday, February 18, 2020

यूपी पुलिस सिपाही भर्ती 2018 A खबर ::: अभ्यर्थी को मिली राहत , इंटरमीडिएट का प्रमाणपत्र न दिखाने पर कर दिया था चयन सूची से बाहर , पुलिस भर्ती बोर्ड को याची के दस्तावेजों की जांच करके नियुक्ति देने का निर्देश , क्लिक करे और पढ़े पूरी पोस्ट

यूपी पुलिस सिपाही भर्ती 2018 A खबर ::: अभ्यर्थी को मिली राहत , इंटरमीडिएट का प्रमाणपत्र न दिखाने पर कर दिया था चयन सूची  से बाहर , पुलिस भर्ती बोर्ड को याची के दस्तावेजों की जांच करके नियुक्ति देने का निर्देश , क्लिक करे और पढ़े पूरी पोस्ट 





इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कांस्टेबल भर्ती 2018 में इंटरमीडिएट का प्रमाण पत्र दाखिल न करने वाले अभ्यर्थी को राहत दिया है। कोर्ट ने पुलिस भर्ती बोर्ड को निर्देश दिया है कि याची के दस्तावेजों की जांच करके उसे नियुक्ति दी जाए।
यह आदेश न्यायमूर्ति मनोज कुमार गुप्ता ने र}ेश यादव की याचिका पर दिया है। याची के अधिवक्ता श्रीमान सिंह का कहना है कि याची ने 11 दिसंबर 2019 को दस्तावेज सत्यापन के लिए पुलिस लाइन गोरखपुर में अपने शैक्षणिक दस्तावेज प्रस्तुत किया था। याची ने हाईस्कूल व इंटरमीडिएट के अंकपत्र व हाईस्कूल का प्रमाण पत्र प्रस्तुत किया। उस समय उसके पास इंटरमीडिएट का प्रमाण पत्र नहीं था। याची के अनुरोध पर अधिकारियों ने उसे प्रमाण पत्र लाने का मौका दिया।
फिर उसने एक घंटे बाद इंटरमीडिएट का प्रमाण पत्र भी जमा कर दिया। इसके बावजूद उसका नाम चयन सूची में नहीं शामिल किया गया। हाईकोर्ट ने इस मामले में पुलिस भर्ती बोर्ड से जवाब मांगा था बोर्ड की ओर से कहा गया कि विज्ञापन में यह प्रावधान था कि ऑनलाइन आवेदन के समय याची के पास सभी शैक्षणिक दस्तावेज होना चाहिए। आवेदन के समय सभी दस्तावेज जमा न करने की वजह से याची का नाम चयन सूची में शामिल नहीं किया गया। इस पर कोर्ट ने कहा कि यदि याची ने अपने अंक पत्र जमा किए थे तो यह माना जाएगा कि उसके पास प्रमाण पत्र भी होगा।
सिर्फ प्रमाण पत्र न होने के आधार पर चयन से वंचित नहीं किया जा सकता। कहा याची द्वारा प्रस्तुत इंटरमीडिएट के प्रमाण पत्र की जांच करने के बाद उसकी नियुक्ति पर चार सप्ताह में निर्णय लिया जाए।



Click Here & Download Govt Jobs UP Official Android App



Click Here to join Govt Jobs UP Telegram Channel