Thursday, February 13, 2020

यूपी पुलिस सिपाही भर्ती 2018 ::: सैकड़ो मुन्ना भाइयो ने छोड़ दी भर्ती , प्रयागराज में 8060 में से 2325 अभ्यर्थियों ने नहीं कराये दस्तावेजों के सत्यापन , क्लिक करे और पढ़े पूरी पोस्ट

यूपी पुलिस सिपाही भर्ती 2018 ::: सैकड़ो मुन्ना भाइयो ने छोड़ दी भर्ती , प्रयागराज में 8060 में से 2325 अभ्यर्थियों ने नहीं कराये दस्तावेजों के सत्यापन , क्लिक करे और पढ़े पूरी पोस्ट  




यूपी पुलिस सिपाही भर्ती 2018 में सॉल्वर गैंग का खुलासा होने के बाद सैकड़ों मुन्ना भाइयों ने परीक्षा छोड़ दी है। अपनी जगह सॉल्वरों को परीक्षा में बैठाने वाले अभ्यर्थी लिखित परीक्षा में पास होने के बाद भी प्रमापपत्रों का सत्यापन कराने नहीं पहुंचे और न ही फिजिकल जांच में आए। प्रयागराज जोन में कुल 2325 अभ्यर्थियों ने सत्यापन नहीं कराया है। जनवरी 2019 में सिपाही भर्ती 2018 की लिखित परीक्षा हुई थी। परीक्षा पास करने वाले अभ्यर्थियों को हर जोन में उनके कागजात का मिलान और शारीरिक परीक्षण कराया गया। प्रयागराज पुलिस लाइन में सिपाही भर्ती 2018 की लिखित परीक्षा पास करने वाले 8060 अभ्यर्थियों का सत्यापन होना था। दिसंबर 2019 में सभी को मौका दिया गया लेकिन इसके बाद भी सैकड़ों अभ्यर्थी अनुपस्थित रहे। 

ऐसे अभ्यर्थियों को दोबारा मौका देने के लिए बीते जनवरी में फिर सत्यापन शुरू हुआ। छह जनवरी को 734 अभ्यर्थियों को बुलाया गया था जिसमें 32 अभ्यर्थी पहुंचे थे। सत्यापन के दौरान फिंगर प्रिंट व फोटो का मिलान न होने पर पुलिस ने 16 मुन्ना भाइयों गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने खुलासा किया था कि सिपाही भर्ती 2018 में लिखित परीक्षा में किसी दूसरे को बैठाया, इसके कारण उनकी फिंगर प्रिंट मैच नहीं हुई। वेबकैम से ली गई फोटो मिलान में भी राज खुल गया।  दूसरे की जगह परीक्षा देने वाले गैंग का खुलासा हुआ और 16 मुन्ना भाई जेल भेज दिए गए। इसके बाद बाकी बचे अभ्यर्थियों में ज्यादातर सत्यापन कराने नहीं आए। 

पुलिस रिकार्ड से पता चलता है कि कुल 2325 अभ्यर्थियों ने न तो सत्यापन कराया और न ही फिजिकल में शामिल हुए। ऐसे में कहा जा रहा है कि परीक्षा छोड़ने वालों में ज्यादातर मुन्ना भाई हैँ। बाकी किसी अन्य कारण से सिपाही भर्ती में शामिल नहीं हुए। 


Click Here & Download Govt Jobs UP Official Android App



Click Here to join Govt Jobs UP Telegram Channel