Thursday, January 23, 2020

उच्च प्राथमिक विद्यालयों में सात वर्ष बाद सीधी भर्ती का खुला द्वार , लिखित परीक्षा से होगी भर्ती , क्लिक करे और पढ़े पूरी पोस्ट

उच्च प्राथमिक विद्यालयों में सात वर्ष बाद सीधी भर्ती का खुला द्वार , लिखित परीक्षा से होगी भर्ती , क्लिक करे और पढ़े पूरी पोस्ट 





यूपी टीईटी की उच्च प्राथमिक स्तर की परीक्षा में शामिल होने वालों के लिए खुशखबरी है। सात वर्ष बाद लाखों अभ्यर्थियों को अशासकीय सहायताप्राप्त जूनियर हाईस्कूल की सीधी भर्ती में शामिल होने का मौका मिलेगा। इधर लंबे समय से उच्च प्राथमिक स्कूलों में सीधी भर्ती न होने के बाद भी हर साल बड़ी संख्या में अभ्यर्थी परीक्षा में शामिल होकर उसे उत्तीर्ण करते आ रहे हैं। भर्ती के पद अभी तय नहीं हैं, जल्द ही तस्वीर साफ होगी। साथ ही पहली बार लिखित परीक्षा के जरिए चयन होना है।
प्रदेश में उप्र शिक्षक पात्रता परीक्षा यानी यूपी टीईटी 2011 से हो रही है, एक वर्ष को छोड़कर हर साल यह परीक्षा दो स्तरों के लिए होती है। प्राथमिक स्तर व उच्च प्राथमिक स्तर के लिए बड़ी संख्या में अभ्यर्थी शिरकत करते आ रहे हैं। बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक स्कूलों के लिए सहायक अध्यापकों की तमाम भर्तियां हो चुकी हैं, लेकिन उच्च प्राथमिक स्तर पर 2013 में केवल एक भर्ती विज्ञान व गणित 29334 शिक्षकों की हुई है। उसके बाद नियमावली में संशोधन कर दिया गया कि उच्च प्राथमिक स्कूलों के पद प्रमोशन से ही भरे जाएंगे, सीधी भर्ती नहीं होगी। अभ्यर्थियों का उत्साह ठंडा नहीं पड़ा यूपी टीईटी की उच्च प्राथमिक स्तर की परीक्षा में शामिल होने वालों की तादाद निरंतर बढ़ रही है। इस वर्ष भी 5,69,174 अभ्यर्थियों ने पंजीकरण कराया और 92 प्रतिशत से अधिक परीक्षा में शामिल भी हुए हैं। इसके पहले के वर्षो में करीब पांच लाख से अधिक अभ्यर्थी परीक्षा उत्तीर्ण कर चुके हैं। शासन ने पहली जनवरी को प्रदेश के अशासकीय सहायताप्राप्त जूनियर हाईस्कूलों के लिए प्रधानाध्यापक व सहायक अध्यापक भर्ती चयन का आदेश दिया है। फिलहाल भर्ती की लिखित परीक्षा कराने का जिम्मा परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय को सौंपा है, उप्र शिक्षा सेवा आयोग बनने के बाद यह भर्ती उसके जिम्मे होगी। इसमें उच्च प्राथमिक स्तर की टीईटी उत्तीर्ण होने का प्रमाणपत्र जरूरी होगा।

जिलों से जल्द मांगे जाएंगे पद
सहायताप्राप्त जूनियर हाईस्कूलों में शिक्षकों के चयन के लिए यूपी टीईटी के बाद जिलों से प्रधानाध्यापक व सहायक अध्यापकों के पद मांगे जाएंगे। जिन स्कूलों में 100 छात्र या छात्रएं हैं वहां प्रधानाध्यापक व हर स्कूल में भाषा, सामाजिक विज्ञान व गणित और विज्ञान का शिक्षक चयनित किया जाएगा।



Click Here & Download Govt Jobs UP Official Android App



Click Here to join Govt Jobs UP Telegram Channel