Monday, November 11, 2019

फर्जीवाड़ा ::: बाराबंकी सहित चार जिलों में हैं फर्जी डिग्री धारक शिक्षक , क्लिक करे और पढ़े पूरी पोस्ट

फर्जीवाड़ा ::: बाराबंकी सहित चार जिलों में हैं फर्जी डिग्री धारक शिक्षक , क्लिक करे और पढ़े पूरी पोस्ट 





 शिक्षा विभाग में फर्जी कागजात के सहारे नौकरी दिलाने का रैकेट चल रहा है। इसका पर्दाफाश एसटीएफ द्वारा पकड़े गए शिक्षक पिता-पुत्र से हुआ। बाराबंकी, गोरखपुर, बलरामपुर और महाराजगंज में फर्जी नियुक्तियां की गई हैं। जिले के ही 12 शिक्षक ऐसे हैं, जिनकी डिग्री फर्जी लगी है और वह सहायक अध्यापक हैं।
गोरखपुर जिले की नगर कोतवाली क्षेत्र के ग्राम गोपालापुर के मूल निवासी ने गिरजेश कुमार ने वर्ष 1997 में बेसिक शिक्षा विभाग में सहायक अध्यापक के पद पर बलरामपुर जिले से जयकृष्ण दुबे नाम के दस्तावेजों से नौकरी शुरू की। वर्ष 2016 में महाराजगंज जिले से स्थानांतरित होकर बाराबंकी आया। मौजूदा समय हैदरगढ़ ब्लॉक के पूर्व माध्यमिक विद्यालय गेरावां में सहायक अध्यापक पद पर तैनाती है। इसने अपने पुत्र आदित्य त्रिपाठी को वर्ष 2009 में रविशंकर त्रिपाठी नाम से फर्जी डिग्रियों के सहारे सहायक अध्यापक पद पर प्राथमिक स्कूल हैदरगढ़ में नौकरी दिलाई। एसटीएफ द्वारा पकड़े जाने के बाद फर्जी तरीके से नौकरी दिलाने का रैकेट की बात पता चली।
12 शिक्षक चिह्न्ति : जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी वीपी सिंह ने बताया कि जिले में 12 शिक्षक चिह्न्ति हुए हैं, जो फर्जी दस्तावेजों के सहारे नौकरी कर रहे हैं। इसमें सुरेंद्र नाथ सहायक अध्यापक गुलामाबाद और नवनीता यादव सहायक अध्यापक मसौली भी फर्जी तरीके से नौकरी कर रहे थे। इसके अलावा सहायक अध्यापक भावना को जब नोटिस दिया गया तो वह कोर्ट में चली गई, जहां अब मामला चल रहा है


Click Here & Download Govt Jobs UP Official Android App



Click Here to join Govt Jobs UP Telegram Channel