Thursday, September 12, 2019

पांच सौ नर्सो की निकली नौकरी आवेदन पहुंचे 55 हजार , ’पीजीआइ में ज्वानिंग के लिए मची होड़ , क्लिक करे और पढ़े पूरी पोस्ट

पांच सौ नर्सो की निकली नौकरी आवेदन पहुंचे 55 हजार , ’पीजीआइ में ज्वानिंग के लिए मची होड़ , क्लिक करे और पढ़े पूरी पोस्ट 






नर्सिग की पढ़ाई के लिए निजी और सरकारी क्षेत्र में रोज नए कॉलेज खुल रहे हैं। नौकरी की गारंटी का लुभावना सपना दिखाकर प्रवेश लिए जा रहे हैं मगर हकीकत में ऐसा नहीं है। ट्रेंड नर्सो की बेकार फौज खड़ी हो गई है। पीजीआइ में नर्सो के लिए खाली पांच सौ पद गवाह हैं। जगह निकलते ही दो-चार हजार नहीं बल्कि 55 हजार आवेदन अब तक पहुंच गए हैं। इसे देखकर ही ट्रेंड नर्सेज एसोसिएशन व पीजीआइ नर्सेज एसोसिएशन ने प्रदेश सरकार से मांग की है कि जब तक सारी ट्रेंड नर्सो का समायोजन न हो जाए, तब तक पाठ्यक्रम पर रोक लगाई जाए।
ट्रेंड नर्सेज एसोसिएशन के पदाधिकारी डॉ. अजय कुमार सिंह का कहना है कि ट्रेंड नर्सेज का शोषण हो रहा है। बेरोजगारी का आलम यह है कि पीजीआइ में अक्टूबर 2018 में 500 नर्सेज की जगह निकली है जिसके लिए 55 हजार लड़कियों ने आवेदन किया है। एक पद के लिए 110 लड़कियों ने दावेदारी पेश की है।
बंद हो आउटसोर्सिग, मिले समान मानदेय: पीजीआइ नर्सेज एसोसिएशन की अध्यक्ष सीमा शुक्ला ने मांग की है कि प्रदेश के संस्थानों में आउटसोर्सिग पर नर्सो की तैनाती तुरंत बंद की जाए। जो काम कर रही हैं, पहले उनके साथ न्याय किया जाए। इन्हें रेलवे, एम्स दिल्ली की तरह मानदेय दिया जाए। साथ ही, जैसे देश में नए एम्स खुलते समय तैनात की गईं नर्सेज को पांच साल की सेवा के बाद काम के आधार पर रेगुलर किया गया, वैसा ही प्रदेश के संस्थानों में किया जाए।
’>>पीजीआइ में ज्वानिंग के लिए मची होड़
’>>ट्रेंड नर्सेज एसोसिएशन ने कहा जरूरत पर चलाएं नर्सिग कोर्स
यह है स्थिति
’ उत्तर प्रदेश में नर्सिग डिप्लोमा सीट : 13,553
’बीएससी नर्सिग सीट : 5,150
’ ट्रेंड नर्सेज की कुल सीट : 18,703
’ नर्सिग डिप्लोमा के लिए मान्यताप्राप्त कॉलेज : 308
’ बीएससी नर्सिग के लिए मान्यताप्राप्त कॉलेज : 133
’ किसी निजि कॉलेज से नर्स की ट्रेनिंग के लिए तीन से 3.5 लाख रुपये फीस में जाते हैं। इसमें रहने-खाने खर्च जोड़ दें तो पांच से सात लाख खर्च होता है।



Click Here & Download Govt Jobs UP Official Android App


Click Here to join Govt Jobs UP Telegram Channel