Friday, August 16, 2019

फर्जीवाड़ा ::: फर्जी TET मार्कशीट पर नौकरी कर रहे तीन शिक्षक को नौकरी से निकाला , STF ने शुरू की मामले की जाँच , क्लिक करे और पढ़े पूरी पोस्ट

फर्जीवाड़ा ::: फर्जी TET मार्कशीट पर नौकरी कर रहे तीन शिक्षक को नौकरी से निकाला , STF ने शुरू  की मामले की जाँच , क्लिक करे और पढ़े पूरी पोस्ट 





उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा विभाग में फर्जी शिक्षकों का मामला थमता नजर नहीं आ रहा है। महराजगंज  बीएसए जगदीश शुक्ल ने कूटरचित अभिलेखों के आधार पर नौकरी कर रहे तीन शिक्षकों को बर्खास्त कर दिया। इस कार्रवाई से शिक्षा विभाग में हड़कंप मचा है। एसटीएफ भी मामले की जांच कर रही है। बेसिक शिक्षा विभाग में हुई 72 हजार व 16 हजार शिक्षकों की भर्ती में एक के बाद एक फर्जीवाड़ा सामने आ रहा है। जैसे जैसे शिकायतों की जांच के बाद आरोप की पुष्टि हो रही है जिले में बर्खास्तगी की कार्रवाई जारी है। ताजा मामला निचलौल, सिसवा व बृजमनगंज का है।

निचलौल क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय द्वितीय पर तैनात सहायक अध्यापक सुनील कुमार के खिलाफ शिकायत मिली थी कि फर्जी शैक्षणिक अभिलेख के आधार पर उनकी नियुक्ति हुई है। विभाग ने जांच कराई तो टीईटी का सर्टिफिकेट फर्जी निकला। इस पर उन्हें बर्खास्त कर दिया गया। इसी तरह बृजमनगंज क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय में तैनात प्रधानाध्यापक अखिलेश तिवारी का भी टीईटी सर्टिफिकेट 2011 फर्जी मिलने पर बर्खास्तगी की कार्रवाई की गई। तीसरी कार्रवाई सिसवा क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय सबया दक्षिण टोला में तैनात सहायक अध्यापिका प्रियंका सिंह के खिलाफ हुई है। प्रियंका सिंह का भी टीईटी 2013 का सर्टिफिकेट जांच में फर्जी निकला। जिसके आधार सेवा समाप्ति की कार्रवाई की गई है।

एफआईआर दर्ज कराने के लिए एसपी को भेजा पत्र
जिन तीन शिक्षकों की सेवा समाप्त की गई है उनके खिलाफ केस दर्ज करने के लिए बीएसए ने एसपी को पत्र भेजा है। इसके अलावा डीएम व अन्य विभागीय उच्चाधिकारियों को भी कार्रवाई से अवगत करा दिया गया है।

जगदीश शुक्ल (बीएसए) ने कहा- फर्जी अभिलेखों के आधार पर सहायक अध्यापक भर्ती प्रक्रिया में चयनित हुए तीन शिक्षकों के खिलाफ शिकायत मिली थी। शिकायत की गहनता से जांच-पड़ताल के बाद सेवा समाप्ति की कार्रवाई की गई है।