Wednesday, August 14, 2019

परिषदीय विद्यालयों में पढ़ाने के बजाय बातों में मशगूल मिलीं शिक्षिकाएं , क्लिक करे और पढ़े पूरी पोस्ट

परिषदीय विद्यालयों में पढ़ाने के बजाय बातों में मशगूल मिलीं शिक्षिकाएं , क्लिक करे और पढ़े पूरी पोस्ट 





परिषदीय विद्यालयों में शिक्षिकाएं बच्चों को पढ़ाने को लेकर कितना गंभीर हैं, इसका नमूना मंगलवार को दिखाई दिया। खंड शिक्षाधिकारी (नगर) ज्योति शुक्ला अलोपीबाग स्थित पूर्व माध्यमिक विद्यालय और प्राथमिक विद्यालय का सुबह आठ बजे औचक निरीक्षण करने पहुंचीं तो वहां शिक्षिकाएं बच्चों को पढ़ाने के बजाए एक जगह एकत्रित होकर बातों में मशगूल थीं। इस पर बीईओ ने शिक्षिकाओं को जमकर फटकार लगाई। शिक्षामित्र किरन सिंह अनुपस्थित मिलीं। विद्यालय में 94 बच्चे पंजीकृत हैं, लेकिन निरीक्षण के समय मात्र तीन बच्चे उपस्थित थे। 10.30 बजे तक चार बच्चे और आ गए।
बीईओ ने बच्चों के लिए खरीदे गए यूनिफार्म को भी देखा। जो मानक के अनुरूप नहीं पाए गए। उन्होंने प्रधानाध्यापिका को गुणवत्तापूर्ण यूनिफार्म आपूर्ति के बाद ही भुगतान करने के निर्देश दिए। पठन-पाठन की स्थिति भी बेहद खराब मिली। आश्चर्यजनक यह है कि अंग्रेजी की किताबें किसी भी कक्षा में नहीं पढ़ाई गई थीं। विज्ञान की टीचर होने के बावजूद इस विषय की पढ़ाई भी बहुत कम हुई है।


Click Here & Download Govt Jobs UP Official Android App


Click Here to join Govt Jobs UP Telegram Channel


Click Here To Join Our Official WhatsApp Group