Monday, August 5, 2019

सेवानिवृत्त हेल्पर, खलासी भी रखने लगा रेलवे , सेवानिवृत्त कर्मियों को बेसिक वेतन का आधार, पैसा देती है सरकार , क्लिक करे और पढ़े पूरी पोस्ट

सेवानिवृत्त हेल्पर, खलासी भी रखने लगा रेलवे , सेवानिवृत्त कर्मियों को बेसिक वेतन का आधार, पैसा देती है सरकार , क्लिक करे और पढ़े पूरी पोस्ट 





सेवानिवृत्त कर्मियों को बेसिक वेतन का आधार, पैसा देती है सरकार .

सेवानिवृत्त कर्मियों को रेलवे मानदेय के अलावा कोई लाभ नहीं देती है। रेलवे ने तय किया है कि सेवानिवृत्त कर्मी की सेवानिवृत्ति वाले दिन जो बेसिक पे होगी, उसका आधा उसे भुगतान किया जाएगा। यह सभी पदों के लिए लागू है। इसके अतिरिक्त कर्मी को कोई अन्य लाभ नहीं मिलेगा। सेवानिवृत्त कर्मी को जो पेंशन और सेवानिवृत्त जो अन्य लाभ मिल रहे हैं, वह उसे मिलते रहेंगे। वर्तमान में आगरा रेल मंडल में वर्तमान में सभी पदों पर 140 से 150 सेवानिवृत्त कर्मी काम कर रहे हैं। .

प्रतिमाह करीब 150 कर्मी हो रहे हैं सेवानिवृत्त.

आगरा रेल मंडल में प्रतिमाह करीब 150 कर्मी सेवानिवृत्त होते हैं। सेवानिवृत्ति के बाद जो जगह खाली होती है, वह नई भर्ती न होने की वजह से खाली रह जाती हैं। इस वजह से सेवारत कर्मचारियों पर काम का बोझ बढ़ जाता है। सेवानिवृत्त कर्मियों की जगह भरने के लिए रेलवे ने सेवानिवृत्त कर्मियों को रखने की योजना शुरू की है। .

सेवानिवृत्त कर्मियों को रखने का आदेश रेलवे बोर्ड का है। बीते दो साल से आगरा रेल मंडल में सेवानिवृत्त कर्मी काम कर रहे हैं। हम जरूरत के हिसाब से सेवानिवृत्त कर्मियों को रखते हैं। नई भर्ती भारत सरकार करती है। यह हमारे हाथ में नहीं है। .

एसके श्रीवास्तव, पीआरओ आगरा रेल मंडल .

सेवानिवृत्त कर्मियों को बेसिक वेतन का आधार, पैसा देती है सरकार .

सेवानिवृत्त कर्मियों को रेलवे मानदेय के अलावा कोई लाभ नहीं देती है। रेलवे ने तय किया है कि सेवानिवृत्त कर्मी की सेवानिवृत्ति वाले दिन जो बेसिक पे होगी, उसका आधा उसे भुगतान किया जाएगा। यह सभी पदों के लिए लागू है। इसके अतिरिक्त कर्मी को कोई अन्य लाभ नहीं मिलेगा। सेवानिवृत्त कर्मी को जो पेंशन और सेवानिवृत्त जो अन्य लाभ मिल रहे हैं, वह उसे मिलते रहेंगे। वर्तमान में आगरा रेल मंडल में वर्तमान में सभी पदों पर 140 से 150 सेवानिवृत्त कर्मी काम कर रहे हैं। .

प्रतिमाह करीब 150 कर्मी हो रहे हैं सेवानिवृत्त.

आगरा रेल मंडल में प्रतिमाह करीब 150 कर्मी सेवानिवृत्त होते हैं। सेवानिवृत्ति के बाद जो जगह खाली होती है, वह नई भर्ती न होने की वजह से खाली रह जाती हैं। इस वजह से सेवारत कर्मचारियों पर काम का बोझ बढ़ जाता है। सेवानिवृत्त कर्मियों की जगह भरने के लिए रेलवे ने सेवानिवृत्त कर्मियों को रखने की योजना शुरू की है। .