Monday, August 12, 2019

यूपी पुलिस खबर :::: एएसपी से इंस्पेक्टर तक के एसीआर होंगे ऑनलाइन , नई व्यवस्था : पुलिस की तकनीकी सेवाएं इकाई कर रही है तैयारी , क्लिक करे और पढ़े पूरी पोस्ट

यूपी पुलिस खबर :::: एएसपी से इंस्पेक्टर तक के एसीआर होंगे ऑनलाइन , नई व्यवस्था : पुलिस की तकनीकी सेवाएं इकाई कर रही है तैयारी , क्लिक करे और पढ़े पूरी पोस्ट 






जल्द अपर पुलिस अधीक्षक से लेकर इंस्पेक्टर तक के एसीआर (वार्षिक गोपनीय मंतव्य) भी आईपीएस अफसरों की तरह ऑनलाइन भरे जा सकेंगे। डीजीपी ओपी सिंह की पहल पर पुलिस की तकनीकी सेवाएं इकाई ने ऑनलाइन एसीआर भरने के लिए सॉफ्टवेयर की रूपरेखा तैयार कर ली है। चार महीने में इस व्यवस्था को शुरू किए जाने की तैयारी है।

डीजीपी ओपी सिंह ने बताया कि पुलिस विभाग में अभी सिर्फ आईपीएस अफसरों की पीएआर (कार्य मूल्यांकन रिपोर्ट) ऑनलाइन भरी जाती है। इसके चलते यह प्रक्रिया समय से पूरी होती है। सभी का कार्यों का विवरण और उस पर उनके वरिष्ठ अधिकारियों की रिपोर्ट ऑनलाइन उपलब्ध होती है। इसे वे कहीं से और कभी भी देख सकते हैं। हालांकि, अपर पुलिस अधीक्षक से लेकर सिपाहियों तक की एसीआर लिखने की प्रक्रिया अभी कागजों पर ही चल रही है। ऐसे में तय हुआ है कि अपर पुलिस अधीक्षक से लेकर इंस्पेक्टर तक के एसीआर ऑनलाइन भरे जाएंगे। चूंकि एसआई, हेड कॉन्स्टेबल व कॉन्स्टेबल की संख्या बहुत ज्यादा है, इसलिए अभी उन्हें इसमें शामिल नहीं किया जा रहा है।

रूपरेखा तैयार

डीजीपी ओपी सिंह ने एडीजी स्थापना पीयूष आनन्द के नेतृत्व में इस काम के लिए कमिटी का गठन किया था। कमिटी ने ऑनलाइन एसीआर भरे जाने की रूपरेखा तैयार कर ली है। एएसपी से लेकर इंस्पेक्टर तक करीब सात हजार अफसर हैं, जिनका ब्योरा ऑनलाइन किया जाएगा। सॉफ्टवेयर बनाने के लिए कंपनी का चयन किया जाना है। इसके लिए जल्द टेंडर करवाया जाएगा।


एएसपी से इंस्पेक्टर तक के एसीआर होंगे ऑनलाइन
करीब सात हजार अफसरों का एसीआर ऑनलाइन होने से सबसे बड़ा फायदा समय की बचत का होगा। एसीआर लिखने की प्रक्रिया पूरी तरह पारदर्शी होगी। दरअसल, पुलिस महकमे में बड़े पैमाने पर लगातार तबादले होते रहते हैं। जिन लोगों के एसीआर लिखने वाले वरिष्ठ अफसरों का ट्रांसफर हो जाता है, उन्हें फिर उनके तैनाती वाले स्थान पर जाकर अपना एसीआर भरवाना होता है। लगातार अपनी फाइल का पीछा करना होता है। इसमें काफी समय लगता है और कई बार फाइलें इधर-उधर हो जाती हैं। यह प्रक्रिया ऑनलाइन होने के बाद ये समस्याएं खत्म हो जाएंगी।• एनबीटी ब्यूरो, लखनऊ : स्वतंत्रता दिवस के मौके पर जेल विभाग के दो एआईजी और एक डीआईजी समेत 120 जेल अफसर-कर्मचारियों को आईजी के प्रशंसा चिह्न से सम्मानित किया जाएगा। डीजी आनन्द कुमार ने आईजी जेल का पद संभालने के बाद बेहतर काम करने वाले जेल अफसर-कर्मचारियों को आईजी कमेंडेशन डिस्क देने की घोषणा की थी। जेल मुख्यालय के मुताबिक दो एआईजी, एक डीआईजी, तीन वरिष्ठ जेल अधीक्षक, आठ जेल अधीक्षक, 12 जेलर, 24 डिप्टी जेलर, 70 हेड जेल वॉर्डर, जेल वॉर्डर और चालकों को आईजी का प्रशंसा चिह्न मिलेगा।

इन अफसरों को मिलेगा : एआईजी वीके जैन, एआईजी डॉ. शरद, डीआईजी जेल आगरा रेंज संजीव त्रिपाठी, लखनऊ जिला कारागार के वरिष्ठ अधीक्षक पीएन पाण्डेय, मुख्यालय में तैनात विनोद सिंह, आजमगढ़ जेल के वरिष्ठ अधीक्षक राधा कृष्ण मिश्रा, आगरा के अधीक्षक शशिकांत मिश्रा, बुलंदशहर के अधीक्षक ओमप्रकाश कटियार, फतेहगढ़ के अधीक्षक विजय विक्रम सिंह, मीरजापुर के अनिल कुमार राय, फिरोजाबाद के मोहम्मद अकरम, कानपुर नगर के आशीष तिवारी, मुजफ्फरनगर के अरुण कुमार सक्सेना और बाराबंकी जेल अधीक्षक राजेंद्र कुमार जायसवाल को कमेंडेशन डिस्क मिलेगा। वहीं, जेलर राम शिरोमणि यादव, श्री प्रकाश त्रिपाठी, अशोक कुमार सागर, शिव कुमार यादव, राजेंद्र प्रताप चौधरी, संजीव कुमार सिंह, नयन तारा बनर्जी, जगदम्बा प्रसाद दुबे, सत्य प्रकाश, कमलेंद्र प्रताप सिंह, पवन कुमार त्रिवेदी और रंजीत कुमार सिंह को भी कमेंडेशन डिस्क मिलेगा।

डिप्टी जेलर : नरेंद्र सिंह, रविंद्र प्रजापति, राम कुमार, लालजीत, कैलाश नारायण शुक्ला, रामशंकर सरोज, भोलानाथ भारती, नीलम शर्मा, राज कुमार, राजेश कुमार, राजेंद्र सिंह, रविन्द्र नाथ, अखिलेश कुमार, योगेश कुमार, कुंवर रणंजय सिंह, किशोर कुमार दीक्षित, संतोष वर्मा, ऋत्विक प्रियदर्शी, संजय शाही, कुंज बिहारी सिंह, सुनील दत्त मिश्रा, रविशंकर तिवारी, विजय गुप्ता, प्रशांत उपाध्याय को आईजी का प्रशंसा चिह्न मिलेगा।

हेड जेल वॉर्डर : यूनुस मोहम्मद, संजय सिंह, लालजीत यादव, नंदलाल गुप्ता, आनन्द कुमार, रामनाथ मिश्रा, प्रीति सिंह, सत्यपाल सिसोदिया, दिलीप कुमार, निरंजन लाल, जगदीश चंद्र, अनिल कुमार, मंगल देव शर्मा, शिव शर्मा, सोहनवीर, राधेश्याम टांगड़, कलावती, उमेश सिंह, लक्ष्मी देवी, राम प्रकाश यादव, पुष्पा देवी, हुकुम सिंह, सरोज देवी, रामफल सिंह, वसीउल हसन, ओमकार सिंह, सरोज अवस्थी, सुधा मिश्रा, विजय वर्मा, सूर्यनाथ यादव, गौरी शंकर चतुर्वेदी, हरीश कुमार तिवारी, राज कुमार सिंह, कामता प्रसाद, गौरी शंकर, नरेंद्र सिंह रावत को प्रशंसा चिह्न मिलेगा।

जेल वॉर्डर : राम प्रवेश चौरसिया, महेंद्र नारायण शुक्ला, सुशील कुमार, सुरेश बाबू, संजीव कौशिक, मोहम्मद आसिफ, ओमपाल सिंह, ब्रह्मदेव सिंह, ओमवीर सिंह, भूपेंद्र कुमार तिवारी, सुधीर कुमार, मनोज कुमार शर्मा, राम कुमार तिवारी, अरुण कुमार शर्मा, उमेश भारद्वाज, दुर्गेश कुमार सिंह, मोहम्मद फारुख, लक्ष्मी प्रसाद सिंह, धर्वेंद्र सिंह चौहान, मनोज सिंह, बृजभान सिंह, दान सिंह, रवींद्र कुमार पाण्डेय, हरीश कुमार तिवारी, राकेश कुमार सिंह, शिव नायक वर्मा, प्रमोद कुमार मिश्रा नूतन प्रकाश सिंह, चंद्र प्रकाश ओझा को प्रशंसा चिह्न मिलेगा।