Monday, August 19, 2019

कर्मचारी की मृत्यु के 26 साल बाद अनुकंपा के आधार पर नौकरी नहीं दी जा सकती : कोर्ट , अनुकंपा के आधार पर नौकरी मांगने वाली सीआईएसएफ के कर्मचारी की बेटी की याचिका खारिज , क्लिक करे और पढ़े पूरी पोस्ट

कर्मचारी की मृत्यु के 26 साल बाद अनुकंपा के आधार पर नौकरी नहीं दी जा सकती : कोर्ट , अनुकंपा के आधार पर नौकरी मांगने वाली सीआईएसएफ के कर्मचारी की बेटी की याचिका खारिज  , क्लिक करे और पढ़े पूरी पोस्ट 




 पिता की मृत्यु के 26 साल बाद सीआईएसएफ में अनुकंपा के आधार पर नौकरी मांगने वाली एक महिला की याचिका को हाईकोर्ट ने खारिज कर दिया। न्यायमूर्ति विपिन सांघी व न्यायमूर्ति रजनीश भटनागर की पीठ ने कहा कि अनुकंपा के आधार पर नौकरी सरकारी कर्मचारी के निधन पर उसके परिजनों के सामने आने वाले वित्तीय संकट के समाधान के लिए दी जाती है। यह नियुक्ति नौकरी में बहाल होने का नियमित स्रेत नहीं है। कर्मचारी की मौत के 26 साल हो गए हैं और अब अनुकंपा के आधार पर नौकरी दिया जाना उसकी मूल भावना के विपरीत है। पीठ ने यह कहते हुए याचिका खारिज कर दी।कोर्ट ने अपने फैसले में केंद्र सरकार के 29 सितम्बर, 2016 के परिपत्र पर भी प्रश्नचिन्ह लगाया जिसमें कहा गया है कि कर्मचारी की मौत के बाद किसी भी समय अनुकंपा के आधार पर नौकरी मांगी जा सकती है। कोर्ट ने कहा कि इस तरह नौकरी के आवेदन पर विचार करने की केंद्र सरकार की नीति उस मूल भावना के विपरीत है जिसको लेकर ऐसी नौकरियां दी जाती हैं। वह सरकार के उस रुख से उलझन में है जिसमें तय किया गया है कि अनुकंपा के आधार पर नौकरी के आवेदन पर फैसला कभी भी हो सकता है, भले ही कर्मचारी के निधन का कितना ही समय बीत गया हो। कोर्ट ने कहा कि याचिकाकर्ता (बेटी) के पिता की मृत्यु मार्च, 1993 में हुई थी। उस समय परिवार के सामने जो आर्थिक समस्या रही होगी वह समस्या उसके याचिका दाखिल करने के समय वर्ष 2018 तक जारी नहीं रही होगी। इस बीच उसकी मां ने सभी बच्चों का लालन-पालन किया और उन्हें शिक्षा दिलाई। इतना ही नहीं, उन्होंने अपने सभी बच्चों की शादी की और उन्हें आत्मनिर्भर बनाया। याचिकाकर्ता के अनुसार उसके पिता की मौत के बाद उसकी मां ने अनुकंपा के आधार पर नौकरी के लिए आवेदन नहीं किया था। उन्होंने वर्ष 2011 में आवेदन किया, लेकिन उनका आवेदन उस आधार पर खारिज कर दिया गया कि वह 10वीं पास नहीं थी। जब याचिकाकर्ता बालिग हुई और वर्ष 2013 में स्नातक करने के बाद अनुकंपा के आधार पर नौकरी पाने के लिए वर्ष 2018 में आवेदन किया। उसकी अर्जी को अधिकारियों ने यह कहते हुए खारिज कर दिया कि उसके पिता की मौत के 20 साल से ज्यादा हो गए हैं। महिला फिर अदालत आई तो अदालत ने उसे नए सिरे से आवेदन करने को कहा। अधिकारियों ने उस आवेदन को भी फरवरी में खारिज कर दिया और कहा कि आवेदन काफी देर से किया है।



Click Here & Download Govt Jobs UP Official Android App


Click Here to join Govt Jobs UP Telegram Channel


Click Here To Join Our Official Whatsapp Group