Monday, April 1, 2019

CCS UNIVERSITY MEERUT :: ऑनलाइन हो जाइए, घर बैठे होगा विवि का काम , छात्र-छात्राओं को घर बैठे मार्कशीट, पीसी, डिग्री और माइग्रेशन उपलब्ध करा रही सीसीएसयू, आवेदन कीजिए , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर

 CCS UNIVERSITY MEERUT :: ऑनलाइन हो जाइए, घर बैठे होगा विवि का काम , छात्र-छात्राओं को घर बैठे मार्कशीट, पीसी, डिग्री और माइग्रेशन उपलब्ध करा रही सीसीएसयू, आवेदन कीजिए , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर 




मार्कशीट, डिग्री, प्रोविजनल सर्टिफिकेट और माइग्रेशन सहित अधूरे रिजल्ट को जारी कराने के लिए चौ.चरण सिंह यूनिवर्सिटी कैंपस में बिचौलियों के चक्कर में फंसने की जरुरत नहीं है। छात्र विवि के ऑनलाइन सिस्टम से जुड़कर ना केवल घर बैठे अपने काम करा सकते हैं बल्कि कैंपस में किसी भी तरह की परेशानी से बच जाएंगे। छात्र-छात्राएं कैंपस में भी छात्र समस्या निवारण केंद्र पर निर्धारित प्रक्रिया पूरी करते हुए डॉक्यूमेंट ले सकते हैं। विवि ने छात्रहित में उक्त दोनों व्यवस्थाओं को लागू कर रखा है। किसी भी समस्या पर छात्र-छात्राएं कुलपति और रजिस्ट्रार को ईमेल भी कर सकते हैं।.


मेरठ-सहारनपुर मंडल सहित विभिन्न जिलों से आने वाले छात्र-छात्राएं जानकारी नहीं होने से दलालों के चक्कर में फंस जाते हैं, लेकिन विवि कैंपस में निर्धारित प्रक्रिया पूरी करते हुए सीधे भी काम कराया जा सकता है। छात्र-छात्राओं को इसके लिए विवि कैंपस में बने सिस्टम को फॉलो करना होगा। बाहर से आने वाले स्टूडेंट तत्काल में प्रमाण पत्र लेने के बजाय समय रहते आवेदन करें।.


विश्वविद्यालय के अनुसार छात्र समस्या निवारण केंद्र पर प्रत्येक काम के लिए समय-सीमा तय है। यदि विंडो पर छात्रों को समय से मार्कशीट, माइग्रेशन, डिग्री या डुप्लीकेट मार्कशीट नहीं मिलती तो वे सीधे अधिकारियों से संपर्क कर सकते हैं। .

ऑनलाइन काम कराइए, सारे झंझटों से मुक्ति मिलेगी: यदि छात्र-छात्राएं किसी कारण से कैंपस में आकर काम नहीं करा सकते तो वे विवि के ऑनलाइन सिस्टम पर अपने काम करा सकते हैं। छात्रों को इसके लिए एड्रेस बार में /फ६६६. ूू२४ल्ल्र५ी१२्र३८. ंू. ्रल्ल /र पर टाइप करें। इसके बाद विवि का होमपेज खुलेगा। छात्रों को इसमें मेन वेबसाइट वाले लिंक पर क्लिक करना होगा। ऐसा करते ही विवि की मेन वेबसाइट का होम पेज खुल जाएगा। इस पेज को नीचे स्क्रॉल करना होगा। .

पेज के सबसे नीचे स्टूडेंट ग्रीवेंस मैनेजमेंट सिस्टम पर क्लिक करना होगा। इस लिंक पर क्लिक करने से नया पेज खुलेगा। यहां पर छात्र-छात्राओं को सत्र, एनरोलमेंट नंबर, कोर्स और कॉलेज की सूचना देनी होगी। ऐसा करने से छात्रों को शिकायत नंबर मिलेगा। छात्रों के मोबाइल पर पासवर्ड भी भेजा जाएगा। छात्र पासवर्ड और शिकायत नंबर से पोर्टल को लॉगइन करते हुए अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं। विवि छात्रों के आवेदन पर काम करते हुए प्रमाण पत्र तय पते पर भिजव देगी। यदि फीस जरुरी है तो छात्र इस पोर्टल पर सीधे ऑनलाइन पेमेंट भी कर सकते हैं। यदि किसी कारण से रिजल्ट जारी करने अथवा प्रमाण पत्र जारी करने में दिक्कत है तो विवि छात्रों को ईमेल करेगा। छात्र जरुरी प्रमाण पत्रों को अटैज करते हुए ऑनलाइन ही भेज सकते हैं। विवि के अनुसार छात्र सतर्क और जागरुक रहते हुए निर्धारित प्रक्रिया पूरी करते हुए आसानी से अपने काम करा सकते हैं। .

डिग्री के लिए समय से आवेदन करें .

यदि छात्र-छात्राओं को अपनी डिग्री चाहिए तो छात्र समस्या निवारण केंद्र पर समय रहते आवेदन करें। विवि में डिग्री देने के लिए 15-20 दिन फिक्स हैं। विवि के अनुसार यदि छात्र समय-सीमा को ध्यान में रखते हुए केंद्र पर डिग्री के लिए आवेदन करते हैं तो निर्धारित तिथि पर इसी केंद्र से इसे प्राप्त किया जा सकता है। डिग्री के लिए भी छात्रों को कैंपस के इलाहाबाद बैंक काउंटर से निर्धारित राशि का फॉर्म लेना होगा। वर्ष 2014 के बाद से डिग्री फॉर्म मात्र एक रुपये का है जबकि इससे पहले के लिए यह राशि अधिक है। .

विवि कैंपस में छात्र-छात्राओं के लिए कुछ कामों के लिए तत्काल सुविधा की भी व्यवस्था है। यदि छात्रों को माइग्रेशन या प्रोविजनल सर्टिफिकेट चाहिए तो यह मात्र दो मिनट में छात्र समस्या निवारण केंद्र से ही मिल जाएगा। इसके लिए छात्र कैंपस स्थित इलाहाबाद बैंक से निर्धारित राशि का फॉर्म खरीदते हुए डिटेल भर दें। इसके बाद मार्कशीट और आईडी की फोटोकॉपी लगाते हुए माइग्रेशन या पीसी की विंडो पर आवेदन कर दें। इस विंडो पर ये दोनों प्रमाण पत्र दो मिनट में प्रिंट होकर मिल जाएंगे। कैंपस में यदि कोई व्यक्ति इन दोनों प्रमाण पत्रों के लिए अलग से कोई डिमांड करता है तो उसके चक्कर में ना फंसें। इन दोनों कामों को सिफारिश या रुपये देने की जरुरत नहीं है। .