Sunday, April 14, 2019

फर्जीवाड़ा ::: रिटायर होने के बाद भी दस माह तक की नौकरी , चरित्र पंजिका में बीच-बीच में करता रहा हेराफेरी , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर

फर्जीवाड़ा ::: रिटायर होने के बाद भी दस माह तक की नौकरी , चरित्र पंजिका में बीच-बीच में करता रहा हेराफेरी , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर 



सिंचाई एवं जल संस्थान में कार्यरत अवर अभियंता ने चरित्र पंजिका में हेराफेरी कर रिटायर होने के बाद भी दस माह तक सरकारी नौकरी का लाभ उठाया। शक होने पर जांच अनुभाग के वरिष्ठ स्टॉफ अधिकारी ने जांच करायी तो फर्जीवाड़ा सामने आ गया। विभागीय जांच के बाद सहायक अभियंता ने हुसैनगंज कोतवाली में तत्कालीन अवर अभियंता सोहनलाल सिंह के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करायी है। इंस्पेक्टर अनिल कुमार ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है।सिंचाई एवं जल संस्थान के लखनऊ खण्ड शारदा नहर में दीनानाथ मौर्य सहायक अभियंता चतुर्थ के पद पर कार्यरत हैं।

शुक्रवार को उन्होंने हुसैनगंज पुलिस से लिखित शिकायत की। आरोप है कि अधीक्षण अभियंता मूल्य नियंतण्रप्रकोष्ठ कार्यालय कार्यालय प्रमुख अभियंता सिंचाई एवं जल संस्थान विभाग में सोहनलाल तत्कालीन अवर अभियंता के पद पर हैं।चरित्र पंजिका के अनुसार सोहनलाल की जन्मतिथि 22 जुलाई 1953 है। इसके हिसाब से उन्हें 31 जुलाई 2013 को रिटायर होना था। आरोप है कि इस दौरान अवर अभियंता ने अपनी चरित्र पंजिका में वर्ष 2009-2010 व वर्ष 2010-2011 में जन्मतिथि 22 जुलाई 1956 लिखकर खुद ही हस्ताक्षर भी कर लिए। इसके बाद 2011-2012 में फिर से अपनी चरित्र पंजिका में जन्मतिथि 22 मार्च 1956 दिखा दी।इस तरह अभवर अभियंता सोहनलाल ने रिटायर होने के बाद भी 10 माह तक सरकारी नौकरी की और सरकारी लाभ उठाया। शक होने पर जांच अनुभाग के वरिष्ठ स्टॉफ अधिकारी नवीन कुमार त्रिपाठी ने जब अवर अभियंता की चरित्र पंजिका की जांच की तो फर्जीवाड़े का पता चला। विभागीय जांच के बाद सहायक अभियंता चतुर्थ दीनानाथ मौर्य ने मामले की शिकायत हुसैनगंज पुलिस से की। पुलिस ने तहरीर के आधार पर तत्कालीन अवर अभियंता सोहनलाल सिंह निवासी विश्वनाथ होटल के पास चारबाग के खिलाफ फर्जी दस्तावेज पर धोखाधड़ी करने की रिपोर्ट दर्ज कर ली है।