Thursday, April 18, 2019

प्रदेश के जिला अदालतों में जूनियर सहायक के 1786 पदों पर हुई भर्ती के परिणाम को दी गयी चुनौती , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर

प्रदेश के जिला अदालतों में जूनियर सहायक के 1786 पदों पर हुई भर्ती के परिणाम को दी गयी चुनौती , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर 



जिला अदालतों में जूनियर सहायक और अप्रेंटिस के 1786 पदों पर भर्ती के लिए जारी परिणाम को हाईकोर्ट में चुनौती दी गई है। कहा गया है कि भर्ती प्रक्रिया में शारीरिक रूप से अक्षम अभ्यर्थियों के लिए निर्धारित क्षैतिज आरक्षण का कोटा सही तरीके से लागू नहीं किया गया है। अदालत ने इस मामले में हाईकोर्ट प्रशासन से जानकारी मांगी है। ओबीसी दिव्यांग अभ्यर्थी नरेंद्र कुमार की याचिका पर न्यायमूर्ति एमके गुप्ता की एकलपीठ सुनवाई कर रही है। याची के अधिवक्ता सीमांत सिंह के मुताबिक हाईकोर्ट ने 2017 में जूनियर सहायक और अप्रेंटिस के 1786 पदों के लिए विज्ञापन जारी किया था। याची ने ओबीसी कटेगरी में दिव्यांक अभ्यर्थी के रूप में आवेदन किया। लिखित परीक्षा और कंप्यूटर टेस्ट में शामिल हुआ। आठ फरवरी 2019 को इसका अंतिम परिणाम घोषित किया गया, जिसमें याची चयनित नहीं हुआ। याचिका में कहा गया है कि विज्ञापन के मुताबिक शारीरिक अक्षम कोटे का तीन प्रतिशत क्षैतिज आरक्षण लागू होना चाहिए। घोषित परिणाम में कुल 30 दिव्यांग अभ्यर्थी चयनित हुए हैं, जबकि तीन प्रतिशत के हिसाब से 53 पदों पर दिव्यांगों का चयन होना चाहिए। कोर्ट ने इस मामले में हाईकोर्ट प्रशासन से 22 अप्रैल तक जानकारी मांगी है।