Sunday, March 17, 2019

प्रदेश के डिग्री कॉलेजों में प्राचार्यों के 290 पदों के लिए शुरू हुई आवेदन प्रक्रिया, आवेदकों को गुजरना होगा लिखित परीक्षा से , ' टेस्ट में चौथाई अंकों की निगेटिव मार्किंग भी, पांच वर्ष की अवधि की शर्त का विज्ञापन में जिक्र नहीं , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर

प्रदेश के डिग्री कॉलेजों में प्राचार्यों के 290 पदों के लिए शुरू हुई आवेदन प्रक्रिया, आवेदकों को गुजरना होगा लिखित परीक्षा से , ' टेस्ट में चौथाई अंकों की निगेटिव मार्किंग भी, पांच वर्ष की अवधि की शर्त का विज्ञापन में जिक्र नहीं , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर 




प्रदेशभर के एडेड डिग्री कॉलेजों में प्राचार्यों के रिक्त पदों को भरने के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू हो गई है। शिक्षक 16 अप्रैल तक ऑनलाइन आवेदन करते हुए प्राचार्य की नियुक्ति में शामिल हो सकते हैं। महिला कॉलेजों में पुरुषों को प्राचार्य पद के लिए आवेदन की अनुमति नहीं होगी। कॉलेजों में प्राचार्य बनने के लिए शिक्षकों को लिखित परीक्षा देनी होगी। यदि शिक्षकों ने परीक्षा में सवालों का गलत जवाब दिया तो उनके नंबर काटे जाएंगे। प्राचार्यों के लिए प्रदेश में पहली बार लिखित परीक्षा होगी। विज्ञापन संख्या 48 में भी लिखित परीक्षा की व्यवस्था की गई थी, लेकिन यह विज्ञापन निरस्त करते हुए विज्ञापन-49 जारी किया गया है।.


प्रदेशभर में इस वक्त 290 एडेड कॉलेजों में कार्यवाहक प्राचार्य काम कर रहे हैं। इनमें से अधिकांश कॉलेजों में करीब तीन वर्ष से पद रिक्त चल रहे हैं। आदेशों के अनुसार पुरुषों के लिए पीजी कॉलेजों में 172, महिलाओं के लिए 36, यूजी में पुरुषों के लिए 63 और महिलाओं के लिए 17 पदों पर नियुक्ति होगी। महिला अभ्यर्थियों को पुरुष और महिला दोनों वर्गों में आवेदन की छूट रहेगी। आदेशों के अनुसार जिन शिक्षकों ने पूर्व के विज्ञापन में आवेदन किया था उन्हें फिर से आवेदन करने की जरुरत नहीं है। परीक्षा में एक गलत पर एक चौथाई अंक काटे जाएंगे। ऐसे शिक्षकों को अपना पूर्व में मिला रजिस्ट्रेशन नंबर और ट्रांजक्शन आईडी दर्ज करने पर फॉर्म खुल जाएगा। प्राचार्य के लिए शिक्षकों को न्यूनतम 400 एकेडमिक परफोर्मेंस इंडेक्स (एपीआई) होना अनिवार्य है। शिक्षक वेबसाइट से अधिक जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। .