Thursday, January 31, 2019

प्रदेश में भ्रष्टाचार में लिप्त शिक्षकों और बाबुओ की सूची तलब , अपर मुख्य सचिव बोले, भ्रष्टाचार बर्दाश्त नहीं किया जाएगा , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर

प्रदेश में भ्रष्टाचार  में लिप्त शिक्षकों और बाबुओ की सूची तलब , अपर मुख्य सचिव बोले, भ्रष्टाचार बर्दाश्त नहीं किया जाएगा , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर 




बेसिक शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव डा. प्रभात कुमार ने अगले तीन दिनों में भ्रष्टाचार में लिप्त या स्कूल न जाने वाले शिक्षकों, शिक्षा मित्र व प्रधानाध्यापकों की सूची तलब की है। उन्होंने भ्रष्टाचार में लिप्त खण्ड शिक्षा अधिकारियों व बाबुओं की सूची भी एक हफ्ते में मांगी है। .

डा. प्रभात कुमार ने बुधवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये विभागीय अधिकारियों को संबोधित किया। इस दौरान कड़े तेवर अपनाते हुए स्पष्ट किया कि अनुशासनहीनता, भ्रष्टाचार और स्कूल से गायब रहना बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि जिलों में कितने अध्यापकों या शिक्षामित्रों का अनुपस्थिति के कारण वेतन काटा गया? इसकी सूची भी बनाई जाए। बीईओ की सूची की मॉनिटरिंग मुख्य विकास अधिकारियों को सौंपी है। .

अपर मुख्य सचिव ने कहा कि सभी बेसिक शिक्षा अधिकारी खुद या बीईओ के माध्यम से सरकारी स्कूलों का निरीक्षण नियमित रूप से करें। जिलों में गैर-मान्यता प्राप्त स्कूलों को बंद कराया जाए। वहीं नए नियुक्त होने वाले शिक्षकों के सत्यापन संबंधी सभी काम तत्परता के साथ कर उनका वेतन भुगतान किया जाए। मिड डे मील खाने वाले बच्चों के हस्ताक्षर दर्ज किए जाए। .

डा. कुमार ने प्रधानमंत्री के महत्वाकांक्षी जिलों की सूची में सिद्धार्थनगर को मोस्ट फास्ट मूविंग जिलों में दूसरी डेल्टा रैंकिंग में तीसरा स्थान प्राप्त करने के लिए बीएसए के प्रयासों की सराहना की। बैठक के दौरान निदेशक सर्वेन्द्र विक्रम बहादुर सिंह, परिषद की सचिव रूबी सिंह समेत कई अधिकारी मौजूद रहे। .

स्कूल चलो अभियान को मिला नया नाम शारदा: डा. प्रभात ने नए शैक्षिक सत्र 2019-20 में ‘आउट आफ स्कूल बच्चों' के चिह्नांकन, पंजीकरण और नामांकन के लिए ‘शारदा (एसएचए आरडीए यानी हर दिन स्कूल आएं) कार्यक्रम की जानकारी भी दी। नामांकन का लक्ष्य पिछले वर्ष से 15 फीसदी बढ़ाते हुए कहा कि इसकी हर हफ्ते समीक्षा होगी और इसमें सीडीओ को ज्यादा सक्रियता दिखानी होगी। .