Monday, December 17, 2018

CPRF कर्मियों के लम्बे कामकाजी घंटे पर JPC ने जताई चिंता , CRPF कर्मी दिन में कर रहे 12 से 14 घंटे काम , ज्यादातर कर्मियों को नहीं मिलती छुट्टिया , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर

CPRF  कर्मियों के लम्बे कामकाजी घंटे पर JPC ने जताई चिंता , CRPF  कर्मी दिन में कर रहे 12 से 14 घंटे काम , ज्यादातर कर्मियों को नहीं मिलती छुट्टिया , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर 




एक संयुक्त संसदीय समिति ने सीआरपीएफ जवानों के लगातार लंबे कामकाजी घंटे को लेकर चिंता जताई है। समिति ने कहा कि ऐसे हालात न तो स्वास्थ्यप्रद हैं और न ही टिकाऊ हैं।.

बता दें कि लंबे कामकाजी घंटे की वजह से सीआरपीएफ कर्मी छुट्टी और साप्ताहिक अवकाश भी नहीं ले पाते हैं। .

कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम की अध्यक्षता वाली गृह मामलों पर संसद की स्थायी समिति ने अपनी रिपोर्ट में कहा, अर्द्धसैनिक बलों को राज्य सरकारें, जो निवास की सुविधा देती हैं वह कभी-कभी अस्वास्थ्यकर, असुरक्षित और खराब होती हैं। इससे जवानों की गरिमा, मनोबल और प्रेरणा पर असर पड़ता है।.

राज्यसभा को सौंपी गई रिपोर्ट में पैनल ने कहा,समिति को यह बताते हुए अफसोस हो रहा है कि सीआरपीएफ कर्मी दिन में 12-14 घंटे काम करते हैं। 80 फीसदी सीआरपीएफ कर्मी छुट्टियां और रविवार का साप्ताहिक अवकाश तक नहीं ले सकते हैं। समिति यह समझती है कि सुरक्षा बलों का काम ऐसा है कि उन्हें (महिला या पुरुष कर्मी को) दिन में 24 घंटे, सप्ताह में सातों दिन और साल में 365 दिन सतर्क रहना होता है। हालांकि, रोजाना 12-14 घंटे लगातार काम करने और छुट्टियों तक की गुंजाइश न होने से उनपर मनोवैज्ञानिक और शारीरिक असर पड़ता है, जो उनके काम को प्रभावित करता है। .

समिति ने सिफारिश की कि मंत्रालय द्वारा ऐसी व्यवस्था हो, जिससे उन्हें आराम मिल सके और कर्मियों के लिये ड्यूटी का उचित समय निर्धारित हो।.

नौकरियों से सम्बन्धित सही, सटीक व विश्वशनीय जानकारी सबसे पहले अपने मोबाइल पर पाने के लिए -