Sunday, December 9, 2018

यूपी पुलिस सिपाही भर्ती फिजिकल : कोई गश खाकर गिर पड़ा, तो कोई रेंगते हुए फिनिशिंग प्वाइंट तक पहुंचा , क्लिक करें और पढ़े पूरी खबर

यूपी पुलिस सिपाही भर्ती फिजिकल  : कोई गश खाकर गिर पड़ा, तो कोई रेंगते हुए फिनिशिंग प्वाइंट तक पहुंचा , क्लिक करें और पढ़े पूरी खबर



मेरठ रुड़की रोड स्थित छठी वाहिनी पीएसी में चल रही यूपी पुलिस-पीएसी सिपाही भर्ती दौड़ में शनिवार को प्रतिभागियों ने पूरा जोर लगाया। हर प्रतिभागी लक्ष्य को भेदने के लिए उतावला दिखा। इसके बावजूद कुछ कमजोर प्रतिभागी फिनिशिंग प्वाइंट से पहले ही बेहोश होकर गिर पड़े, जबकि कुछ आखिरी चक्कर में गिर गए और रेंगते हुए फिनिशिंग प्वाइंट तक पहुंचे।

पुलिस लाइन में नाप-तौल पीएसी मैदान में दौड़
भर्ती के लिए ऑनलाइन आवेदन लिए गए थे। मेरठ और सहारनपुर मंडल के अभ्यर्थियों की शारीरिक नाप-तौल पुलिस लाइन में की जा रही है। इसमें पास होने वाले अभ्यर्थियों के एडमिट कार्ड जारी करने के बाद छठी वाहिनी पीएसी के मैदान में उनकी दौड़ कराई जा रही है। नाप-तौल और दौड़ की प्रक्रिया 11 दिसंबर तक चलेगी।


ये हैं दौड़ के मानक
पुरुष अभ्यर्थियों के लिए 25 मिनट में 4.8 किमी की दौड़ निर्धारित है। उन्हें मैदान के 12 चक्कर लगाने हैं। महिलाओं को 2.4 किमी की दौड़ 14 मिनट में पूरी करनी है। उन्हें मैदान के छह चक्कर लगाने हैं। मैदान का एक चक्कर 400 मीटर का है।

550 अभ्यर्थी रहे सफल
भर्ती बोर्ड के अधिकारी सीओ रामअर्ज ने बताया कि सिपाही दौड़ के दूसरे दिन शनिवार को 737 प्रतिभागी दौड़े। इनमें 550 पास और 187 फेल हो गए।


200 मीटर में 10 बार गिरा सिपाहियों ने संभाला
शामली निवासी विमल कुमार (चेस्ट नंबर-171) दौड़ के 12वें और आखिरी चक्कर में फिनि¨शग प्वाइंट से 200 मीटर पहले गश खाकर गिर गया। सिपाहियों ने उसे संभाला और उठकर दौड़ जारी रखने को कहा। फिनि¨शग प्वाइंट तक विमल दस बार खड़ा हुआ और बार-बार गिरता रहा। रेंगते हुए उसने किसी तरह दौड़ पूरी की। बाद में उसे एंबुलेंस में पहुंचाकर प्राथमिक उपचार दिलाया गया। तमाम अन्य अभ्यर्थी भी इसी तरह गिरते रहे।


भर्ती प्रक्रिया में गड़बड़ी की आशंका
उप्र सिविल पुलिस और पीएसी में सिपाही पद पर भर्ती के लिए चल रही प्रक्रिया में बाहरी लोगों का दखल है, जिसके चलते गड़बड़ की आशंका है। दूसरी ओर अव्यवस्था का खामियाजा अभ्यर्थियों को चुकाना पड़ रहा है।


दस्तावेजों की चल रही जांच
पुलिस व पीएसी की लिखित परीक्षा का परिणाम घोषित होने के बाद पुलिस लाइन में दस्तावेजों की जांच की जा रही है। इस दौरान उनकी मापतौल, बायोमेटिक के बाद दस्तावेजों को इंटरनेट पर अपलोड किया जा रहा है। 10 दिसंबर तक चलने वाली भर्ती प्रक्रिया में प्रतिदिन 1350 अभ्यर्थियों को बुलाया जा रहा है।

बाहरी लोगों का हस्तक्षेप
शनिवार को भी अभ्यर्थी प्रात: छह बजे से पुलिस लाइन पहुंचने शुरू हो गए थे, लेकिन उनके बैठने तक की वहां कोई व्यवस्था नहीं की गई थी। ठंड के कारण अभ्यर्थी परेशान रहे। खासकर, लड़कियों को मुसीबतों का सामना करना पड़ा। इस दौरान बाहरी लोग भी पुलिस लाइन में भटकते रहे। वह अभ्यर्थियों और अधिकारियों से संपर्क साधते नजर आए। उनके हस्तक्षेप को देखते हुए भर्ती प्रक्रिया में गड़बड़ होने की भी आशंका है।


270 का नहीं हुआ बायोमेट्रिक मिलान
तीसरे दिन 1399 अभ्यर्थी पुलिस लाइन पहुंचे, जिनमें से 1325 की मापतौल और दस्तावेजों की जांच की गई। भर्ती प्रक्रिया में रेंज के मेरठ, बागपत, हापुड़, गौतमबुद्धनगर, गाजियाबाद और बुलंदशहर के 5885 अभ्यर्थी हिस्सा लेंगे। 270 अभ्यर्थियों का बायोमेटिक मिलान नहीं हो पाया, जिसकी रिपोर्ट बोर्ड को भेजी जाएगी।

इनका कहना है
भर्ती प्रक्रिया पर विशेष नजर रखी जा रही है। कोई गड़बड़ी नहीं हो पाएगी। एसटीएफ भी सादी वर्दी में तैनात की गई है।
-संजीव कुमार वाजपेयी, नोडल अधिकारी व एसपी ट्रैफिक





नौकरियों से सम्बन्धित सही, सटीक व विश्वशनीय जानकारी सबसे पहले अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करें हमारी आधिकारिक एप    
प्ले स्टोर से भी Govtjobtsup सर्च करके कर सकते हैं डाउनलोड