Monday, October 15, 2018

डीएसएसएसबी की प्राइमरी शिक्षकों की भर्ती परीक्षा में जातिसूचक सवाल पूछने पर विवाद , सवर्ण व अनुसूचित जाति से संबंधित था सवाल , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर

डीएसएसएसबी की प्राइमरी शिक्षकों की भर्ती  परीक्षा में जातिसूचक सवाल पूछने पर विवाद , सवर्ण व अनुसूचित जाति से संबंधित था सवाल , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर 




दिल्ली अधीनस्थ सेवा चयन बोर्ड (डीएसएसएसबी) की प्राइमरी शिक्षकों की भर्ती परीक्षा में जातिसूचक सवाल पूछे जाने से विवाद खड़ा हो गया है। यह सवाल सवर्ण व अनुसूचित जाति से संबंधित था। वहीं, डीएसएसएसबी की अध्यक्ष गीतांजलि गुप्ता ने माना कि ऐसा गलती से हळ्आ है।

 मूल्यांकन प्रक्रिया में इस प्रश्न का अंक नहीं जोड़ा जाएगा। मामले में सख्त कार्रवाई की गई है और कोशिश रहेगी कि भविष्य में ऐसी गलती फिर न हो। 1डीएसएसएसबी ने शनिवार को प्राइमरी शिक्षक पद के लिए परीक्षा आयोजित कराई थी। प्रश्नपत्र में 200 सवाल थे। इसमें हिंदी भाषा और बोध के तहत प्रश्न संख्या 75 में सवर्ण व अनळ्सूचित जाति की एक-एक जाति विशेष पर आपत्तिजनक सवाल पूछा गया था। इस प्रश्न को लेकर विवाद हो गया है। दिल्ली के समाज कल्याण तथा अनुसूचित जाति व जनजाति मंत्री राजेंद्र पाल गौतम ने परीक्षा में इस तरह का सवाल होने पर पर खेद जताया है।

उन्होंने कहा है कि डीसएसएसबी के इस कृत्य से भारतीय संविधान, हिंदी और हमारे देश की सांस्कृतिक गरिमा को चोट पहुंची है। वह इसे लेकर सोमवार को मुख्य सचिव से मिलेंगे और इसकी अंतरिम जांच कर दोषियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किए जाने की मांग करेंगे। उन्होंने कहा कि उपराज्यपाल अनिल बैजल को इस मामले में कार्रवाई करनी चाहिए।

नौकरियों से सम्बन्धित सही, सटीक व विश्वशनीय जानकारी सबसे पहले अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करें हमारी आधिकारिक एप    
प्ले स्टोर से भी Govtjobtsup सर्च करके कर सकते हैं डाउनलोड