Thursday, August 2, 2018

भारतीय सेना में नौ हज़ार अफसरों की कमी , युवाओं को भारतीय सेना में शामिल होने के लिए चलाए जा रहे पिछले कई वर्षो के प्रचार और सेवा शर्तो में कई बदलावों के बावजूद भी सेना को अफसरों की भारी कमी से पड़ रहा जूझना , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर

भारतीय सेना में नौ  हज़ार अफसरों की कमी ,  युवाओं को भारतीय सेना में शामिल होने के लिए चलाए जा रहे पिछले कई वर्षो के प्रचार और सेवा शर्तो में कई बदलावों के बावजूद भी सेना को अफसरों की भारी कमी से पड़ रहा जूझना , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर  





युवाओं को भारतीय सेना में शामिल होने के लिए चलाए जा रहे पिछले कई वर्षो के प्रचार और सेवा शर्तो में कई बदलावों के बावजूद सेना को अफसरों की भारी कमी से जूझना पड़ रहा है। तीनों सशस्त्र सेनाओं को मिलाकर तकरीबन नौ हजार सैन्य अफसरों की कमी है। इस समय थल सेना को ऊंचे पदों पर लगभग सात हजार योग्य अफसरों की सख्त जरूरत है। इस लिहाज से वायु सेना की स्थिति तो बेहतर हुई है, लेकिन नौसेना में भी अभी तक समस्या बनी हुई है। सैन्य बलों ने इस संबंध में कई और कदम उठाने की तैयारी जरूर की है लेकिन अब तक वो नाकाफी ही साबित हुई है।

मौजूदा स्थिति में थल सेना की जरूरतों को देखते हुए तय कुल 49,933 अधिकारियों के मुकाबले इस समय सिर्फ 42,635 अधिकारी ही सेवाएं दे रहे हैं। इस तरह सेना को 7,298 सैन्य अधिकारियों की कमी का सामना करना पड़ रहा है। वहीं भारतीय नौसेना की स्थिति भी बहुत अच्छी नहीं है। नौसेना में 11,352 सैन्य अफसर होने चाहिए। लेकिन मौजूदा तादाद महज 9,746 ही है। इसलिए यहां 1,606 नौसैनिक अधिकारियों की कमी है। हालांकि वायुसेना में अधिकारियों और जवानों की ज्यादा कमी नहीं है। यहां सिर्फ 192 सैन्य अधिकारियों के पद ही खाली हैं।

मगर इनके पास लड़ाकू बेड़ों की भारी कमी है। भविष्य की लड़ाइयों में आधुनिकतम हथियारों और तकनीक की भूमिका ज्यादा प्रमुख होगी। इसके बावजूद पारंपरिक तैयारी की जरूरत से कतई इन्कार नहीं किया जा सकता है। भारतीय सेना की क्षमता 12 लाख कर्मियों की है। जबकि चीन की सेना में 23 लाख सैनिक हैं। पाकिस्तान के पास पांच लाख से अधिक सैनिक हैं। भारतीय सेना को युद्ध की किसी आशंका के लिए तैयारी के साथ ही पाकिस्तान और चीन के साथ लगी नियंत्रण रेखा यानी (एलओसी) और वास्तविक नियंत्रण रेखा यानी (एलएसी) पर चौकसी का काम भी संभालना पड़ रहा है। अभी पिछले ही सत्र में ही रक्षा राज्य मंत्री ने सदन को बताया था कि फौज में 21,383 पद खाली पड़े हैं, इनमें 7,680 पोस्ट अफसर स्तर की हैं। नौसेना में 16,348 और वायुसेना में 15,010 सैनिकों की कमी है।

नौकरियों से सम्बन्धित सही, सटीक व विश्वशनीय जानकारी सबसे पहले अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करें हमारी आधिकारिक एप
    प्ले स्टोर पर सर्च करें Govtjobtsup और डाउनलोड करें