Thursday, August 2, 2018

17 महीनो में एक भी विज्ञापन जारी नहीं कर पाया उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड, इलाहाबाद , प्रदेश के बेरोजगार युवा कर रहे शिक्षक भर्ती का इंतज़ार लेकिन भर्ती के लिए विज्ञापन का इंतज़ार नहीं हो पा रहा खत्म , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर

17 महीनो में एक भी  विज्ञापन जारी नहीं कर पाया   उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड, इलाहाबाद  , प्रदेश के बेरोजगार युवा कर रहे शिक्षक भर्ती का इंतज़ार  लेकिन भर्ती के लिए विज्ञापन का इंतज़ार नहीं हो पा रहा खत्म , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर 




प्रदेश में भाजपा की सरकार को बने हुए 17 माह होने जा रहा है, लेकिन उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड, इलाहाबाद से शिक्षक भर्ती का कोई विज्ञापन जारी नहीं हुआ है।प्रदेश में भाजपा की सरकार ने 19 मार्च, 2017 को शपथ ली थी।उसके चार माह बाद चयन बोर्डको भंग कर दिया गया था।उस दौरान चयन बोर्ड के अध्यक्ष पूर्व आईएएस हीरालाल गुप्ता एवं सचिव रुबी सिंह थी।

प्रदेश सरकार ने करीब पांच माह पहले बोर्ड का गठन किया है।इसमें पूर्वआईएएस वीरेश कुमार को अध्यक्ष एवं दिव्यकांत शुक्ला को सचिव बनाया गया है। बोर्ड के 10 सदस्यों में अभी तक छह की नियुक्ति हुई है, जबकि चार पद रिक्त हैं।सबसे बड़ी बात यह है कि प्रदेश की भाजपा सरकार ने इन 17 माह में बोर्डसे न तो रिक्त पदों का विज्ञापन जारी किया और न ही कोईनयी भर्तीप्रक्रिया ही शुरू की, जो भी चयन प्रक्रिया चल रही है, वह पूर्व की सपा सरकार के कार्यकाल है। इनके इंटरवूय हो चुके हैं और रिजल्ट घोषित हो रहे हैं।इसी से समझा जा सकता है कि नयी सरकार में आज भी अफसरशाही भारी है।

नौकरियों से सम्बन्धित सही, सटीक व विश्वशनीय जानकारी सबसे पहले अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करें हमारी आधिकारिक एप
    प्ले स्टोर पर सर्च करें Govtjobtsup और डाउनलोड करें