Sunday, September 3, 2017

विज्ञापन पढ़ने में हुई एक छोटी सी गलती से चली गयी 22 अभ्यर्थियों की नौकरी

विज्ञापन पढ़ने में हुई एक छोटी सी गलती से चली गयी 22 अभ्यर्थियों की नौकरी 



विज्ञापन को पढ़ने में हुई एक छोटी की चूक लोक सेवा आयोग के 22 अभ्यर्थियों पर भारी पड़ी। अंतिम परिणाम में उत्तर प्रदेश सचिवालय के समीक्षा अधिकारी (लेखा) पद के लिए सफल किए गए इन अभ्यर्थियों को अयोग्य करार देते हुए बाहर कर दिया गया।

प्रकरण आयोग की समीक्षा अधिकारी-सहायक समीक्षा अधिकारी (आरओ-एआरओ) भर्ती 2014 का है। जिसका अंतिम परिणाम पिछले साल 28 नवंबर को घोषित किया गया था। इस परिणाम में उत्तर प्रदेश सचिवालय के समीक्षा अधिकारी (लेखा) पद के लिए सफल किए गए 23 अभ्यर्थियों के नाम थे।

परिणाम घोषणा के बाद आयोग ने जांच कराई तो पता चला कि 23 में से 22 के पास ओ लेवल का सर्टिफिकेट ही नहीं है जबकि इस पद के लिए यह सर्टिफिकेट अनिवार्य था। ओ लेवल या इसके समकक्ष सर्टिफिकेट की छूट सहायक समीक्षा अधिकारी पद के लिए थी। 22 अभ्यर्थियों ने ओ लेवल समकक्ष सर्टिफिकेट के आधार पर आवेदन कर दिए थे। 

बीते 19 अगस्त को इस भर्ती की मार्कशीट जारी होने के बाद प्रतियोगियों को परिणाम में हुए इस बदलाव की जानकारी हुई। असफल किए गए कुछ अभ्यर्थियों ने हाईकोर्ट में याचिका भी की है।

सलाह - अगर आपके पास आवेदन करते वक्त मांगी गयी योग्यता में किसी भी एक का सर्टिफिकेट न हो तो न करें आवेदन ....

डाउनलोड करें हमारी एन्ड्रायड एप गूगल प्ले स्टोर से



उत्तर प्रदेश में आने वाली समस्त सरकारी नौकरियों से सम्बन्धित हर जानकारी को अपने मोबाइल पर पाने के लिए हमारी आधिकारिक एप डाउनलोड करें -