Wednesday, June 13, 2018

यूपी पुलिस सिपाही भर्ती 2018 की 18 व 19 जून को प्रदेश के 860 केंद्रों पर आयोजित होगी परीक्षा , परीक्षा में पारदर्शिता बनाए रखने के लिए हर केंद्र पर बायोमीट्रिक अटेंडेंस की व्यवस्था , परीक्षा केंद्र पर एसएचओ या इंस्पेक्टर रैंक के पुलिस अधिकारी रख सकेंगे अपने साथ हथियार , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर

यूपी पुलिस सिपाही भर्ती 2018 की 18 व 19 जून को प्रदेश के 860 केंद्रों पर आयोजित होगी परीक्षा , परीक्षा में  पारदर्शिता बनाए रखने के लिए हर केंद्र पर बायोमीट्रिक अटेंडेंस की व्यवस्था  ,  परीक्षा केंद्र पर एसएचओ या इंस्पेक्टर रैंक के पुलिस अधिकारी रख सकेंगे अपने साथ हथियार , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर 





प्रदेश के 860 केंद्रों पर 18 और 19 जून को होने वाली पुलिस कॉन्स्टेबल सीधी भर्ती परीक्षा में पारदर्शिता बनाए रखने के लिए हर केंद्र पर बायोमीट्रिक अटेंडेंस की व्यवस्था होगी। इस परीक्षा में प्रदेश भर से करीब 22.50 लाख उम्मीदवार शामिल होंगे।

इलाहाबाद के एसपी (प्रोटोकॉल) और परीक्षा के लिए मंडल के नोडल अधिकारी पुर्णेन्दु सिंह ने बताया कि, विभाग ने सभी उम्मीदवारों के फिंगर प्रिंट पहले ही संकलित कर लिए थे। इसका एक डेटा बैंक बनाया गया है। इससे उम्मीदवारों के फिंगर प्रिंट की जांच और मिलान किया जाएगा। सिर्फ लिखित परीक्षा ही नहीं, फिजिकल टेस्ट, दस्तावेजों के सत्यापन और अंतिम रूप से जॉइनिंग के समय भी इसका मिलान किया जाएगा। इलाहाबाद में 88 परीक्षा केंद्रों पर 2,400 से अधिक बायोमीट्रिक मशीनें लगाई जाएंगी। इन केंद्रों पर करीब 2.36 लाख उम्मीदवार परीक्षा देंगे। परीक्षा में ड्यूटी करने वाले परीक्षकों को भी मोबाइल व अन्य संचार के साधनों को लाने से रोका जाएगा। परीक्षकों की टीम में एसएचओ रैंक के पुलिस अधिकारी, दो सब-इंस्पेक्टर और एक महिला कॉन्स्टेबल भी शामिल होंगे।

एसएचओ या इंस्पेक्टर रैंक के पुलिस अधिकारी को पर्यवेक्षक की जिम्मेदारी दी जाएगी और वह हथियार भी साथ ले जा सकेंगे। प्रत्येक परीक्षा केंद्र के बाहरी घेरे में, कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए दो उप-निरीक्षकों और 10 कॉन्स्टेबल समेत पर्याप्त पुलिस बल तैनात किया जाएगा। इसी तरह, एक एसएचओ रैंक के पुलिस अधिकारी को 10 केंद्रों की निगरानी का जिम्मा सौंपा गया है।

नौकरियों से सम्बन्धित हर जानकारी को अपने मोबाइल पर पाने के लिए हमारी आधिकारिक एप डाउनलोड करें